Wed. Jul 24th, 2024
    YOGI aditynath

    भाजपा के फायरब्रांड नेता और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुछ दिनों पहले राजस्थान के एक चुनावी रैली में भगवान हनुमान को दलित बताया था, अब दलित समुदाय देश के सभी हनुमान मंदिरों के प्रबंधन का हक चाहता है।

    जनेऊ पहने और ‘दलित देवता हनुमान की जय’ के नारे लगाते करीब 30 दलित समुदाय के लोग दिल्ली कानपुर हाइवे पर लंगरे की चौकी के पास स्थित हनुमान मंदिर पहुंचे। कांग्रेस नेता अमित सिंह, समूह को गुरुवार सुबह मंदिर में ले कर आये और कहा कि सभी हनुमान मंदिरों का प्रबंधन दलितों को सौंप देना चाहिए।

    ये पढ़ें: हनुमान जी को दलित बताये जाने पर योगी के खिलाफ कांग्रेस चुनाव आयोग की शरण में

    गौरतलब है कि राजस्थान के अलवर में भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 28 नवंबर को कहा था कि भगवान हनुमान दलित आदिवासी थे। उन्होंने कहा था ‘हनुमान एक जनजातीय, एक वनवासी था और वंचित थे।

    बजरंग बली ने सभी भारतीय समुदायों को उत्तर से दक्षिण और पूर्व से पश्चिम तक जोड़ने का काम किया। यह उनका संकल्प था क्योंकि यह भगवान राम की इच्छा थी। उनके जैसे ही, हमें तब तक आराम नहीं करना चाहिए जब तक कि हम उस इच्छा को पूरा न कर लें।’ उन्होंने सभा में उमड़ी भीड़ से भाजपा प्रत्याशी को जिताने के लिए बजरंगी संकल्प लेने का आह्वान किया था।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *