शुक्रवार, जनवरी 24, 2020

हीरो आईएसएल : चेन्नई को हरा पंजबा ने हासिल की सीजन की पहली जीत

Must Read

दिल्ली : सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, सीमित मुफ्त सुविधाएं अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी, गरीबों के पास पैसों की बचत होती है

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि अगर कोई अतिरिक्त कर नहीं लगता है और अगर...

झारखंड : पत्थलगड़ी हत्याकांड के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने स्थगित किया मंत्रिमंडल विस्तार

पश्चिम सिंहभूम जिले में सात लोगों की हत्या के बाद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने मंत्रिमंडल विस्तार...

अडानी गैस के शेयरों में 14 फीसदी की भारी गिरावट

अडानी गैस के शेयरों में शुक्रवार को बीएसई में 14 फीसदी की भारी गिरावट आई। ऐसा पेट्रोलियम एंड नेचुरल...

पंजाब एफसी ने मंगलवार को यहां के गुरुनानक स्टेडियम में खेले गए मैच में मौजूदा विजेता चेन्नई सिटी एफसी को 3-1 से मात दे हीरो आई-लीग के 13वें सीजन में अपनी पहली जीत दर्ज की। पंजाब की इस जीत के हीरो थोइबा सिंह और सर्जियो बारबोजा रहे जिन्होंने अंतिम पलों में गोल कर टीम को जीत दिलाई।

मेजबान टीम ने दीपेंद्र डिक्का द्वारा 78वें मिनट में किए गए गोल के दम पर बढ़त ले ली थी लेकिन प्रेडो मांजी ने चेन्नई को 85वें मिनट में बराबरी पर ला दिया। लगा मैच ड्रॉ हो जाएगा लेकिन थोइबा और बारबोजा ने गोल कर पंजाब को जीत दिलाई।

दोनों टीमों ने अच्छी शुरुआत की और छोटे-छोटे मौकों को भुना गोल करना चाहा। पंजाब नौवें मिनट में गोल करने के करीब आई थी, लेकिन सफल नहीं हुई। दूसरी तरफ पंजाब ने पजेशन ज्यादा अपने पास रखा और मजबूत पासिंग के जरिए चेन्नई को परेशान किए रखा। पहले हाफ में पंजाब के 39वें मिनट में गोल करने का बड़ा मौका आया। सर्जियो बारबोजा को सिर्फ गोलकीपर को ही छकाना था जिसमें वो सफल नहीं हो पाए।

पहला हाफ गोलरहित रहा और दूसरे हाफ में दीपेंद्र 56वें मिनट में गिंक महेश खोसला के स्थान पर मैदान पर उतरे। कोच का यह बदलाव सफल रहा। 78वें मिनट में दीपेंद्र ने संजू प्रधान के कॉर्नर को नेट में डाल अपनी टीम को 1-0 से आगे कर दिया।

मेहमान टीम ने हालांकि हार नहीं मानी और 85वें मिनट में मांजी को बॉक्स में बेहतरीन पास मिला जिसे उन्होंने गोल में तब्दील करने में कोई गलती नहीं की और स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया।

यहां से लगा कि मैच 1-1 की बराबरी पर समाप्त होगा, लेकिन चेन्नई को उसके डिफेंस की गलती का खामियाजा भुगतना पड़ा। यहां गेंद 16 साल के थोइबा सिंह के पास आई और उन्होंने उसे नेट में डाल अपनी टीम को 2-1 की बढ़त दिला दी।

मैच में चार मिनट का स्टोपेज टाइम जोड़ा गया। यहां पंजाब के मकान विंकल को राइट फ्लैंक पर गेंद मिली जिसे उन्होंने बारबोजा के पास पहुंचा दिया। यहां बारबोजा ने गोल करने में कोई गलती नहीं की और पंजाब के खाते में एक और गोल कर स्कोर 3-1 कर दिया।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली : सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, सीमित मुफ्त सुविधाएं अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी, गरीबों के पास पैसों की बचत होती है

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि अगर कोई अतिरिक्त कर नहीं लगता है और अगर...

झारखंड : पत्थलगड़ी हत्याकांड के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने स्थगित किया मंत्रिमंडल विस्तार

पश्चिम सिंहभूम जिले में सात लोगों की हत्या के बाद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने मंत्रिमंडल विस्तार कार्यक्रम को फिलहाल टाल दिया...

अडानी गैस के शेयरों में 14 फीसदी की भारी गिरावट

अडानी गैस के शेयरों में शुक्रवार को बीएसई में 14 फीसदी की भारी गिरावट आई। ऐसा पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस रेग्युलेटरी बोर्ड ऑफ इंडिया...

भाजपा के पूर्व वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने कहा, पार्टी को भुगतना पड़ेगा सीएए का खामियाजा

भाजपा के पूर्व वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर भगवा पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा है कि भाजपा...

ऑकलैंड टी-20 : 3 मेजबान बल्लेबाजों के अर्धशतक, भारत के सामने विशाल लक्ष्य

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने अपने तीन बल्लेबाजों के अर्धशतकों के दम पर यहां के ईडन पार्क मैदान पर शुक्रवार को जारी पहले टी-20 मुकाबले...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -