Sat. Feb 4th, 2023
    आइफेल टॉवर

    श्रीलंका में आठ बम धमाकों में मृतकों और पीड़ितों के सम्मान में मध्यरात्रि 12 बजे से आइफेल टॉवर अन्धकार के शोक में डूब गया था। रविवार रात को आइकोनिक पेरिस लैंडमार्क के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल में कहा कि “आज, मध्यरात्रि 12 बजे से श्रीलंका हमले के पीड़ितों को श्रद्धांजलि देने के लिए सभी बत्तियां बूझा दूंगा।”

    हमले में जान की कुर्बानी देने वालो के सम्मान में सजावटी बत्तियों को बुझा दिया गया था और टॉवर पूरा अंधकारमय हो गया था।

    इससे पूर्व यह टॉवर इंग्लैंड के मैनचेस्टर के ऐरियना ग्रैंड कॉन्सर्ट में हुए बम धामके के बाद अंधेरे में गिरा था। यह धमाका मई 2017 में हुआ था और इसमें 22 लोगो की मौत की पुष्टि की गयी थी। जनवरी, 2015 में इसे फ्रांस की व्यंग्य मैगज़ीन चार्ली हेब्दो पर हुए हमले में मृतकों को श्रद्धांजलि देने के दौरान अंधकारमय किया गया था।

    इसमें पेरिस के पांच स्थानों पर नवंबर साल 2015 में आतंकी हमले के बाद अंधकारमय किया गया था। रविवार को श्रीलंका के आठ स्थानों पर विस्फोटक हमला हुआ था जिसमे 300 लोगो की मौत की जानकारी मिली है। इस मामले में 13 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया था।
    नौवें विस्फोट को श्रीलंका की सुरक्षा विभागों ने डिफ्यूज कर दिया था और यह कोलोंबो एयरपोर्ट के नजदीक एक पाइप पर था। वैश्विक नेताओं ने इस हमले की निंदा की है इसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पोप फ्रांसिस और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान शामिल है। नेताओं ने इसे बेहद क्रूर और जघन्य अपराध करार दिया है साथ ही हर संभव मदद का आश्वासन दिया है और पीड़ित राष्ट्र के साथ खड़े होने की प्रतिज्ञा ली है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *