Sun. Apr 21st, 2024

    भारत ने रविवार को एक ऑपरेशन में काबुल से 392 लोगों को एयरलिफ्ट किया, जिसमें भारतीय नागरिकों के साथ-साथ सिख और हिंदु अफगान नागरिक भी शामिल थे। इन एयरलिफ्ट किये गए लोगों को तीन विमानों से भारत लाया गया जिसमें एक सी -17 ग्लोबमास्टर भी शामिल है। बाकी दो उड़ानें एयर इंडिया और इंडिगो ने ताजिकिस्तान और कतर के रास्ते संचालित कीं। आने वाले दिनों में निकासी अभियान जारी रहने की उम्मीद है।

    बहु-एजेंसी भारतीय टीम कर रही है काम

    भारत समर्थित विभिन्न परियोजनाओं में कार्यरत श्रमिकों और इंजीनियरों के अलावा निकाले गए लोगों में एक शिशु इकनूर सिंह शामिल है, जो अब तक काबुल से एयरलिफ्ट किया गया सबसे कम उम्र का बच्चा है। अफगानिस्तान में फंसे दार्जिलिंग के कई कार्यकर्ता भी निकाले गए लोगों में शामिल हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इससे पहले केंद्र से उन्हें वापस लाने में मदद की गुहार लगाई थी।

    बताया गया है कि काबुल हवाई अड्डे पर स्थित एक छोटी बहु-एजेंसी भारतीय टीम द्वारा बड़े पैमाने पर इस निकासी की सुविधा प्रदान की गई। भारत सरकार द्वारा काबुल में दूतावास से अपने भारत-आधारित कर्मचारियों को निकालने के कुछ दिनों बाद इस सेल ने कार्यभार संभाला है। विदेश मंत्रालय ने अभी तक इस घटनाक्रम पर कोई टिप्पणी नहीं की है। प्रारंभिक रिपोर्टों ने सुझाव दिया कि टीम में सरकार के विभिन्न वर्गों के सात अधिकारी शामिल हैं और यू.एस.-नियंत्रित हवाई अड्डे पर इसका नेतृत्व भारतीय राजनयिक कर रहे हैं।

    अफगानिस्तान के एक सांसद को भी निकला गया

    निकाले गए लोगों में अफगानिस्तान की संसद के एक सदस्य नरेंद्र पाल सिंह खालसा भी हैं जिन्होंने कहा था कि जब से तालिबान काबुल पर कब्जा किया है तब से उन का कोई भरोसा नहीं है। उन्होंने कहा कि, “वे शनिवार को मेरे कार्यालय आए और मेरे कंप्यूटर, आधिकारिक वाहन और अन्य निजी वाहन ले गए। उन्होंने कहा कि वे मेरी आधिकारिक कार लेने के लिए आये थे जो मुझे सांसद के रूप में दी गई थी, लेकिन अंततः वे मेरे कई निजी सामान ले गए” उन्होंने यह भी बताया कि सेनानियों में बड़ी संख्या में पाकिस्तानी थे।

    By आदित्य सिंह

    दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास का छात्र। खासतौर पर इतिहास, साहित्य और राजनीति में रुचि।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *