गुरूवार, नवम्बर 14, 2019

अवैध शराब के कारोबार को लेकर योगी आदित्यनाथ ने सपा को बनाया निशाना, कहा कि कड़ी कार्रवाई की जाएगी

Must Read

गन्ने को प्रदेश के औद्योगिक विकास की बुनियाद बनाएंगे : योगी

लखनऊ, 13 नवम्बर(आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को यहां कहा कि भविष्य में गन्ना प्रदेश...

शी चिनफिंग ने एक्रोपोलिस संग्रहालय का दौरा किया

बीजिंग, 13 नवंबर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और उनकी पत्नी फंग लीयुआन ने 12 नवंबर को ग्रीस के...

हांगकांग चीन का घरेलू मामला : चीन

बीजिंग, 13 नवंबर (आईएएनएस)। हांगकांग चीन का हांगकांग है। हांगकांग का मामला चीन का घरेलू मामला है। कोई भी...
साक्षी बंसल
पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अवैध शराब के कारोबार में शामिल पाए जाने वाले सभी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है, भले ही वे किसी भी राजनीतिक दल से जुड़े हों।

योगी ने कहा-“पूर्व में भी सपा नेताओं द्वारा इस तरह की शरारतपूर्ण हरकतें सामने आई थीं। आजमगढ़, हरदोई, कानपुर और बाराबंकी में सपा नेताओं को अतीत की त्रासदियों में शामिल पाया गया था। हम इस बार भी साजिश से इनकार नहीं कर सकते।”

वह प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की 23 और 24 फरवरी को ‘किसान अधिवेशन’ में शामिल होने की तैयारियों की समीक्षा के लिए सांसदों और विधायकों के साथ बैठक में भाग लेने के बाद संवाददाताओं के सवालों का जवाब दे रहे थे।

सीएम ने कहा कि उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से बात की थी और ब्योरा साझा करने के लिए कहा क्योंकि हरिद्वार गांव में उत्तर प्रदेश के मूल निवासियों को जाली शराब पिलाई गई थी, जहां वे एक कार्यक्रम में भाग लेने गए थे।

उन्होंने कहा-“उत्तराखंड में नकली शराब का एक रैकेट संचालित किया जा रहा था, इसलिए मैंने सीएम से इस बारे में जानकारी मांगी है।”

उन्होंने कहा कि आबकारी अधिकारी, आबकारी निरीक्षक, एसएचओ और सिपाही और सहारनपुर और कुशीनगर में बीट कांस्टेबल के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

कुशीनगर और साथ ही सहारनपुर जिलों में शराब की वजह से होने वाली मौतों को गंभीरता से लेते हुए, राज्य सरकार ने आबकारी और पुलिस अधिकारियों द्वारा शामिल लोगों के खिलाफ 15 दिन के संयुक्त अभियान का आदेश दिया है।

यूपी सरकार ने मृतकों के परिजनों के लिए 2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने और अस्पतालों में इलाज कराने वालों के लिए 50,000 रुपये की मदद की घोषणा की है।

अधिकारियों ने कहा कि उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के दो जिलों में हुए हादसे में 60 से अधिक लोगों की मौत हो गई है, जबकि हरिद्वार के एक गांव में शराब पीने वाले अधिक लोगों की मौत हो गई है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

गन्ने को प्रदेश के औद्योगिक विकास की बुनियाद बनाएंगे : योगी

लखनऊ, 13 नवम्बर(आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को यहां कहा कि भविष्य में गन्ना प्रदेश...

शी चिनफिंग ने एक्रोपोलिस संग्रहालय का दौरा किया

बीजिंग, 13 नवंबर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और उनकी पत्नी फंग लीयुआन ने 12 नवंबर को ग्रीस के राष्ट्रपति प्रोकोपिस पावलोपोलोस दंपति के...

हांगकांग चीन का घरेलू मामला : चीन

बीजिंग, 13 नवंबर (आईएएनएस)। हांगकांग चीन का हांगकांग है। हांगकांग का मामला चीन का घरेलू मामला है। कोई भी विदेशी सरकार, संगठन और निजी...

मोदी हर काम में पादर्शिता चाहते हैं : साध्वी निरंजन ज्योति

नई दिल्ली, 13 नवंबर (आईएएनएस)। ग्रामीण विकास राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि हर काम...

बीबी की आदतों से आजिज इंजीनियर पति ने जान दे दी

फरीदाबाद, 13 नवंबर (आईएएनएस)। बीबी से आए-दिन होने वाली चिक-चिक से परेशान इंजीनियर ने जहर खा लिया। उसे गंभीर हाल में अस्पताल में दाखिल...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -