Tue. Apr 16th, 2024
    अमेरिकी राष्ट्रपति

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चेतावनी दी कि अगर अमेरिका में कोई अवैध तरीके से प्रवेश करेगा तो उसे पहले गिरफ्तार किया जायेगा फिर कैद में डाला जायेगा और अंत में उसे वापस उसके मुल्क रवाना कर दिया जायेगा।

    हाल ही में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक 1600 आप्रवासी लोग अमेरिका में ग्वाटेमाला से होकर अवैध तरीके से प्रवेश करने की योजना बना रहे हैं।

    काफिरों का कारवां शनिवार को होंडुरन शहर से होकर गुज़रा और सोमवार को ग्वाटेमाला पहुँच गया। ग्वाटेमाला ने एक काफिर को गिरफ्तार किया है लेकिन अन्य सभी अमेरिका की ओर बढ़ गए हैं।

    अमेरिकी राष्ट्रपति ने तीनो मुल्कों होंडुरस, ग्वाटेमाला और एल साल्वाडोर को धमकी दी है कि यदि उनके नागरिक अमेरिका में घुसे तो उनकी सारी आर्थिक मदद रोक दी जाएगी।

    डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीट कर कहा कि तीनो मुल्कों की सरकार अपने नागरिकों को बॉर्डर क्रॉस कर अमेरिका में आने नहीं रोक पाती तो अमेरिका इन मुल्कों की सारी सहायता रोक देगा। साल 2017 में अमेरिका ने होंडुरस को 175 मिलियन डॉलर, ग्वाटेमाला को 248 मिलियन डॉलर और एल साल्वाडोर को 115 मिलियन डॉलर विदेशी मदद मुहैया की थी।

    अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेन्स ने होंडुरस और ग्वाटेमाला के राष्ट्रपति से बातचीत कर साफ़ लफ़्ज़ों में कहा कि अगर घुसपैठिये नहीं रुके तो पूरी तरह विदेशी मदद रुक जाएगी। छह माह पूर्व होंडुरस आप्रवासियों का एक और कारवां अमेरिकी-मेक्सिको सीमा पर पहुंचा था।

    अमेरिका में कुछ सप्ताह बाद मध्यावधि चुनाव है। ऐसे में रिपब्लिकन सरकार डोनाल्ड ट्रम्प के आदेशों के अनुसार बॉर्डर की सुरक्षा बढ़ाएगी और अवैध तरीके से प्रवेश कर रहे आप्रवासियों पर रोक लगाएगी। डोनाल्ड ट्रम्प ने मैक्सिको सीमा से अवैध घुसपैठ को रोकने के लिए दीवार का निर्माण कराने का आदेश दिया है।

    अमेरिकी राष्ट्रपति के मुताबिक बॉर्डर सुरक्षा गंभीर राष्ट्र मसला है और इसमें जरा सी भी लापरवाही अमेरिका की सम्प्रभुता और सुरक्षा के खतरा बन सकती है। उन्होंने कहा अवैध आप्रवासियों के आने कारण अमेरिकी नागरिकों का नुकसान हो रहा है और देश में आतंकी और अपराधी घुस रहे हैं।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *