Fri. Mar 1st, 2024
    अरविंद केजरीवाल

    दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी पर जुबानी हमला बोल दिया है। दिल्ली सीएम ने कहा कि मोदी 12वीं पास है। इसलिए जनता से अनुरोध है कि 2019 में देश के शीर्ष पद के लिए जनता मोदी को वोट न दे।

    यह बातें उन्होंने ऐतिहासिक जंतर-मंतर पर विपक्षी मेगा रैली को संबोधित करने के दौरान कही।

    उन्होंने कहा कि 12वीं पास को प्रधानमंत्री चुनकर जनता ने एक बार गलती की है अब दोबारा न करे। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री पर भ्रष्टाचार व राफेल सौदे में घोटाला करने के आरोप भी लगाए।

    मोदी की शैक्षणिक योगयता पर प्रहार करते हुए आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जनता ने एक बार 12वीं पास व्यक्ति को देश का प्रधानमंत्री चुनने की गलती की है, जिससे सीख लेकर 2019 में ऐसा फिर नहीं करना चाहिए।

    ‘तानाशाही हटाओ, लोकतंत्र बचाओ’  की इस रैली में ममता बनर्जी, चंद्रबाबू नायडू, शरद पवार आदि विपक्षी नेताओं ने मोदी सरकार पर जमकर तंज कसे और मोदी सरकार को जड़ से खत्म करने को कहा।

    केजरीवाल ने कहा कि जिस तरह ऐतिहासिक जंतर-मंतर पर 4 अप्रैल 2011 को भ्रष्टाचार खत्म करने का नारा देकर मोदीजी ने कांग्रेस की यूपीए सरकार को जड़ से खत्म कर दिया था, ठीक उसी तरह इसबार पूरा विपक्ष मिलकर मोदी को जड़ से उखाड़ फेंकेगा।

    उन्होंने राफेल सौदे में विमानों के दाम अचानक से बढ़ जाने पर पीएम के सीधे-सीधे कटघरे में लिया।

    कहा कि पीएम मोदी स्वंय इसमें शामिल है तभी तो उन्होंने रक्षा मंत्रालय से अलग सौदे की बात की।

    जब राफेल का सच सबके सामने आएगा तो प्रधानमंत्री को कुर्सी छोड़नी होगी। अब तो यह साफ भी हो गया है कि इस सौदे में पीएम शामिल थे।

    सीएम केजरीवाल ने तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी की सराहना कि और कहा कि सीबीआई बनाम बंगाल पुलिस कमिश्नर मामले में जिस तरह ममता मोदी सरकार के खिलाफ खड़ी हुई और लड़ी वह काबिल-ए-तारीफ है।

    उन्होंने कहा कि ‘बंगाल सरकार जनता द्वारा चुनी हुई सरकार है कोई मोदी सरकार की बपौती नहीं है। अगर उस दिन बंगाल कमिश्नर की गिरफ्तारी हो जाती तो लोगों को यह लगता कि उन्हें केंद्र सरकार के हिसाब से चलना है न कि राज्य सरकार के हिसाब से।’

    दिल्ली सीएम ने कहा कि उन्हें बहुत दु:ख होता है यह देखकर कि बाबा अंबेडकर के बनाए संविधान की मोदी सरकार ने क्या दशा कर दी है।

    मोदी पर आरोप लगाते हुए केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपनी संसदीय ताकत का इस्तेमाल कर दिल्ली पुलिस की ओर से दर्ज किए गए सभी बड़े लोगों की शिकायत रद्द करवा दी हैं।

    केजरीवाल ने पीएम को याद दिलाया कि दिल्ली देश की राजधानी है और वे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नहीं है। केवल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ही दिल्ली और कांग्रेस पर हमला करने के सपने देखते हैं।

    हालांकि दिल्ली बीजेपी के प्रमुख ने बाद में विपक्षी पार्टियों की रैली को फ्लॉप शो बताया और धरना स्थल को गंगा-जल से शुद्ध करने की सलाह दी।

    दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा कि ‘कल तक आप सरकार जिन्हें भ्रष्ट कहती थी, आज वह उन्हीं लोगों के साथ धरने पर बैठे है।’

    मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की व्यवस्था बदत्तर कर दी है। उन्होंने कहा कि आगामी 13 फरवरी को दिल्ली में आप सरकार के गठन का चार साल पूरे हो रहे हैं। भाजपा सरकार उस दिन को ‘काला दिन’ के रुप में मनाएगी।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *