सरकार की आलोचना करने के लिए बीच में ही रोका अभिनेता अमोल पालेकर का भाषण

सरकार की आलोचना करने के लिए बीच में ही रोका अभिनेता अमोल पालेकर का भाषण

अभिनेता अमोल पालेकर को बार बार भाषण देने से रोका गया जब वे सरकार के फैसले के ऊपर अपनी नाराजगी व्यक्त कर रहे थे। पालेकर एक प्रदर्शनी ‘इनसाइड द एम्प्टी बॉक्स’ में बोल रहे थे जी कलाकार प्रभाकर बरवे की याद में रखा गया था। ये समारोह शुक्रवार को सरकार द्वारा चलने वाली नेशनल गैलरी ऑफ़ मॉडर्न आर्ट (NGMA) में चल रहा था।

पालेकर ने कहा-“2017 में, हम कोलकाता और उत्तर पूर्व में NGMA की नयी शाखाएं खुलने से खुश थे। इस मुंबई स्थल के विस्तार की खबरें भी दिलकश थीं। हालाँकि 13 नवंबर 2018 को, एक और विनाशकारी निर्णय स्पष्ट रूप से लिया गया था।”

उनके ऐसा बोलने पर, क्यूरेटर जेसल थाकर ने उन्हें रोक दिया, जिन्होंने उन्हें प्रभाकर बरवे के बारे में बोलने के लिए कहा था क्योंकि यह समारोह उनके कामों के बारे में था। पालेकर ने फिर उनसे पूछा कि क्या वह उनसे बात नहीं करने के लिए कह रही हैं।

पालेकर ने कहा-“इस माहौल में बरवे ने क्या किया होता? मुझे यकीन है कि उन्होंने हमें वर्तमान में छिपे हुए दृश्य को दिखाया होता। क्षमा करें जेसल।”

पालेकर स्पष्ट रूप से संस्कृति मंत्रालय की आलोचना कर रहे थे जिन्होंने कथित रूप से मुंबई और बेंगलुरु सेंटर की गैलरी से सलाहकार समितियाँ हटवा दी थी।

इन रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए, पालेकर ने कहा-“आप में से बहुत से लोग नहीं जानते होंगे कि यह पूर्वव्यापी स्थानीय कलाकारों की सलाहकार समिति द्वारा तय किया गया अंतिम शो होगा नाकी कुछ नौकरशाहों या सरकार के किसी एजेंट द्वारा जिनका एजेंडा या तो नैतिक पुलिसिंग है या एक वैचारिक झुकाव के साथ कुछ कलाओं का प्रसार।”

उन्होंने फिर आगे दर्शकों को हाल ही में लेखक नयनतारा सहगल के साथ हुए किस्से के बारे में याद दिलाया।

समारोह के दूसरे विडियो, एक महिला स्पीकर पालेकर की टिप्पणियों की निंदा करती नज़र आ रही है। वो कह रही हैं-“उन्होंने सारी चिंताएं तो व्यक्त की मगर इसके अलावा तुम्हे स्वीकार करना चाहिए कि ये नेशनल गैलरी ऑफ़ मॉडर्न आर्ट एक सरकारी गैलरी है।”

लोगों की प्रतिर्किया

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here