Mon. Jun 24th, 2024
    सोमालिया

    अमेरिका की सेना ने उत्तरी सोमालिया में आईएसआईएस के आतंकवादियों पर हमला हमले  किये थे जिसमे एक चरमपंथी की मौत हो गयी थी। अमेरिका अफ्रीका कमांड अफ्रीकी महाद्वीप में अमेरिकी सैनिक तैनात होते हैं। उन्होंने  रविवार को कहा कि “सोमालिया की सरकार के  सहयोग से शनिवार क गोली माउंटेन में आतंकवादियों को निशाना बनाकर हमला किया गया था।”

    आतंकी समूहों पर हमला

    अमेरिकी सेना ने कहा कि “इस हमले में मारा गया आतंकवादी इस समूह की स्थापना में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा था। अफ्रिकोम के डिप्टी डायरेक्टर ऑफ़ ऑपरेशन विलियम वेस्ट ने कहा कि “आईएसआईएस और अल शबाब के खिलाफ इस तरीके के हवाई हमले आतंक रोधी अभियान में एक प्रभावी हथियार रहेंगे।”

    उन्होंने कहा कि “सोमालिया की संघात्मक सरकार और अमेरिका आतंकी संगठनो के अभियानों में बाधा पंहुचाना जारी रखेंगे और जब भी संभव होगा उनकी क्षमता को कम करते रहेंगे।”

    अफ्रिकोम के मुताबिक, गोली पहाड़ आतंकी गतिविधियों का इलाके के तौर पर जाने जाते हैं। इस तरीके के हमले सोमाली सुरक्षा बलो के प्रयासों में सहयोग करेंगे जिसके तहत वह आतंकवाद से जनता की रक्षा करते हैं और इस इलाके में कड़ी सुरक्षा प्रदान करते हैं।

    उन्होंने कहा कि “मौजूदा समय में हमरे आंकलन के मुताबिक, किसी भी नागरिक को चोट नहीं लगी नहीं और न ही हवाई हमले से मौत ही है। हमारी प्रक्रिया और कार्यप्रणाली हमले के बाद अतिरिक्त सूचना का आंकलन करने की अनुमति देती है।”

    अमेरिका के हमले में अधिकतर अल शबाब के मुखियाओं को निशाना बनाया गया था और यह दक्षिणी सोमालिया में स्थीत है, जहां चरम्पंती समूह अब भी कुछ इलाकों में मज़बूत शिकंजा कायम रखते हैं। अक्टूबर 2015 में अल शबाब से आईएसआईएस समर्थक अलग हुए और कांडला पर कब्ज़ा कर लिया था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *