Thu. Jun 13th, 2024
    डोनाल्ड ट्रम्प भारत

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत की गणतंत्र दिवस में शरीक होने के निमंत्रण को अस्वीकार कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प को कई सप्ताह पूर्व इस समारोह में शामिल होने का निमंत्रण दिया था।

    ट्रम्प प्रशंसन ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति को मध्यावधि चुनाव में रैली करनी है इसलिए वह गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत में उपस्थित नहीं हो सकते हैं।

    अगस्त के शुरूआती दौर में वाइट हाउस की प्रेस प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने बताया था कि डोनाल्ड ट्रम्प को भारत दौरे का न्योता मिला है।

    उन्होंने कहा कि भारत के न्योते की तारीख को आगे बढ़ा दिया गया है। पिछले कुछ हफ़्तों से अमेरिका का विदेश मंत्रालय इशारे में कह रहा था कि अमेरिकी राष्ट्रपति नई दिल्ली का दौरा नहीं कर पाएंगे। जनवरी में राष्ट्रपति संयुक्त राज्यों की सभा को संबोधित करेंगे।

    पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने कार्यकाल के दौरान दो बार भारत का दौरा किया था। साथ ही साल 2015 में गणतंत्र दिवस के समारोह में भी शरीक हुए थे।

    सामान्य तौर पर किसी नेता को गणतंत्र दिवस में शरीक होने का न्योता तब दिया जाता है जब वह नेता पुष्टि करे कि समारोह के दौरान वह आने के लिए तत्पर है। पूर्व कूटनीतिज्ञों ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि बिना पुष्टि के भारत के निमत्रण को सार्वजानिक नहीं किया जाना चाहिए था।

    भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में डोनाल्ड ट्रम्प को मुख्या अतिथि बनने का आमंत्रण दिया था जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया है। भारत और अमेरिका के मध्य भूराजनीतिक विवाद बढ़ते जा रहे हैं।

    अमेरिका को प्रतिबंध के बावजूद भारत का ईरान से तेल सौदा करना उन्हे पसंद नहीं आया था। साथ ही भारत ने अमेरिकी प्रतिबंधों के बावजूद रूस से रक्षा सौदा किया और एस-400 विमानों को खरीदने के सौदे पर हस्ताक्षर किये थे।

    रूस और ईरान की तरफ भारत के झुकाव से अमेरिका चिंतित है साथ ही चीन के पैसिफिक और दक्षिणी चीनी महासागर में बढ़ रही सैन्य गतिविधिया अमेरिका के लिए परेशानी का सबब बन रही है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *