शुक्रवार, जून 5, 2020

अमेरिकी फर्जी यूनिवर्सिटी मामला: 117 छात्रों को मिली राजनयिक पंहुच

Must Read

राहुल गांधी को कोरोनावायरस की पूरी जानकारी नहीं: बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा

मोदी सरकार द्वारा COVID-19 स्थिति को संभालने की आलोचना के लिए राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर हमला करते हुए,...

कार्तिक आर्यन ने आगामी फिल्म ‘दोस्ताना 2’ के बारे में दी रोचक जानकारी

अभिनेता कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) आज बॉलीवुड में सबसे अधिक मांग वाले अभिनेताओं में आसानी से शामिल हैं। टाइम्स...

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

अमेरिका में फर्जी यूनिवर्सिटी में दाखिला लेकर अवैध तरीके से वहां रहने के आरोप में 129 छात्रों को हिरासत में लिया गया था। भारत ने सभी भारतीय छात्रों तक राजनयिक पंहुच की मांग की थी। भारत ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका में गिरफ्तार 117 छात्रो तक राजनयिक पंहुच मिल चुकी है।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि छात्रों को रिहाई के लिए भारत सरकार निरंतर इस पर निगाहे बनाये हुए है और इसके लिए सक्रियता से कार्य कर रही है। गत 31 जनवरी को 129 छात्रों को गिरफ्तार किया गया था और देश के 36 विभिन्न स्थानों पर कैद 117 भारतीय छात्रों से संपर्क साध चुका है। शेष 12 छात्रों से राजनयिक संबंध साधने की प्रक्रिया जारी है।

दूतवास ने 24 घंटे जारी हेल्पलाइन नंबर को शुरू किया है। इस नंबर से इस मामले की जानकारी दी जाएगी। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय छात्रों को कानूनी सलाह और सामुदायिक सहयोग मुहैया करने की प्रक्रिया जारी है। भारत सरकार संघीय व प्रांतीय सरकार, दोनो से संपर्क साधे हुए हैं। ताकि भारतीय छात्रों को गरिमापूर्ण और मानवीय व्यवहार किया जाए और उन्हें भारतीय परंपरा के मुताबिक भोजन और आराम को व्यवस्था मुहैया की जाए।

विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि सरकार गिरफ्तार छात्रों को सुरक्षा के लिए उच्च प्राथमिकता से जुड़ी रहेगी और हम अमेरिकी विभागों व सरकार से संपर्क में रहेंगे। भारत ने अमेरिका से छात्रों तक राजनयिक संपर्क साधने की मांग की है और इसके लिए विरोध भी प्रकट किया है।

भारत ने डिमार्श जारी किया है, जिसके तहत कूटनीतिक तौर पर अपना पक्ष रखना या विरोध जाताना होता है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि 129 भारतीय छात्रों को एक फर्जी यूनिवर्सिटी में जानबूझकर दाखिला लेकर अमेरीका मे रहने का आरोप लगाया गया है। पूरे अमेरिका में ऐसी 130 गिरफ्तारियां हुई है जिसमे 129 छात्र भारत के है।

इमीग्रेशन अटॉर्नी के मुताबिक छात्रों को यूनिवर्सिटी के फर्जी होने के बारे में नहीं मालूम था और उन्होंने विभागों को फायदे के लिए फंसाने का आरोप लगाया है। विभाग का दावा है कि छात्रों ने जान बूझकर एक फर्जी यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया ताकि उनका अमेरिका का स्टूडेंट वीजा जारी रह सके।

वांशिगटन में भारतीय दूतावास 129 गिरफ्तार छात्रों की सहायता के लिए 24/7 खुला हुआ है। दूतावास ने दो फ़ोन नंबर 2023221190 और 2023402590 जारी किया है। गिरफ्तार छात्र, उनका परिवार या दोस्त दूतावास से इस ईमेल एड्रेस के जरिये [email protected] इन पर सूचना दे सकते हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

राहुल गांधी को कोरोनावायरस की पूरी जानकारी नहीं: बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा

मोदी सरकार द्वारा COVID-19 स्थिति को संभालने की आलोचना के लिए राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर हमला करते हुए,...

कार्तिक आर्यन ने आगामी फिल्म ‘दोस्ताना 2’ के बारे में दी रोचक जानकारी

अभिनेता कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) आज बॉलीवुड में सबसे अधिक मांग वाले अभिनेताओं में आसानी से शामिल हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की हालिया रिपोर्ट में,...

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के कुल मामले 145,380 तक पहुँच...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी और लोगों से सवाल पूछने...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव की...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -