Sat. Apr 20th, 2024
    अमेरिकी विदेश मंत्री दूतावास यरूशलम

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के यरूशलम को इजरायल की राजधानी घोषित करने के बाद अमेरिकी दूतावास को भी यरूशलम स्थानांतरित करने की कार्रवाई शुरू होने की तैयारी है।

    अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने इजरायल के तेल अवीव से यरूशलम में अमेरिकी दूतावास तुरंत स्थानांतरित किए जाने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए है।

    टिलरसन ने कहा है कि डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा यरूशलम को इजरायल की राजधानी घोषित करने के बाद अमेरिकी दूतावास को भी तेल अवीव से स्थानांतरित किया जाएगा। टिलरसन ने ट्रम्प के निर्णय के बाद अमेरिका के राज्य विभाग को तुरंत इस फैसले को लागू करने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए है।

    अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने अपने बयान में कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इजरायल की वास्तविकता को अच्छी तरह से पहचानते हुए ही यरूशलम को उसकी राजधानी बनाने का ऐलान किया है।

    क्योंकि इजरायल के सभी मुख्य सरकारी कार्यालय, विधानमंडल, सुप्रीम कोर्ट,  राष्ट्रपति कार्यालय और प्रधानमंत्री कार्यालय व आवास सभी यरूशलम में ही स्थित है। टिलरसन ने कहा कि इन बातों को ध्यान में रखकर ही ट्रम्प ने ये ऐतिहासिक निर्णय लिया है।

    रेक्स टिलरसन के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प ने इस फैसले के लिए अपने सहयोगियों व मित्रों से आवश्यक सलाह ली है। टिलरसन ने इस फैसले पर ढृढ़तापूर्वक विश्वास दिखाते हुए कहा है कि यह स्थायी शांति का अवसर है।

    आगे कहा कि अमेरिका की सर्वोच्च प्राथमिकता अपने देश व अन्य जगहों पर अमेरिकी नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करना है। ट्रम्प ने भाषण के दौरान अमेरिकी राज्य विभाग को आदेश दिया था कि तेल अवीव से अमेरिकी दूतावास को यरूशलम स्थानांतरित किया जाएगा।

    ट्रम्प को मिल रही मिश्रित प्रतिक्रिया

    ट्रम्प के इस निर्णय के बाद अमेरिका में उन्हें मिश्रित प्रतिक्रिया मिल रही है। अमेरिकी सीनेटर जॉन मैककेन के मुताबिक यरूशलम इजरायल की सही राजधानी है। लेकिन इस निर्णय को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इजरायल और फिलीस्तीनियों द्वारा हल किया जाना चाहिए।

    वहीं डेमोक्रेटिक सीनेटर टिम काइन ने कहा कि ट्रम्प के इस निर्णय से अमेरिका को अस्थिर परिणाम भुगतने पड़ सकते है। पूरी दुनिया की तरफ से मिल रही प्रतिक्रिया परेशान करने वाली है। वहीं सीनेटर मार्को रुबियो ने कहा कि ट्रम्प की घोषणा सही दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।