Fri. Mar 1st, 2024
    सिख समुदाय

    अमेरिका में सिख समुदाय ने भारत सरकार के सिख कैदियों को रिहा करने के भारत सरकार के निर्णय का स्वागत किया है जो भारतीय जेल में टेररिस्ट एंड डिसट्रूपटिव एक्टिविटीज प्रिवेंशन एक्ट के तहत बीते तीन दशको से कैद है। सिख्स ऑफ़ अमेरिका के चेयरमैन जेसे सिंह ने प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को शुक्रिया अदा किया और इस निर्णय का स्वागत किया था।

    उन्होंने कहा कि “जब, हमने प्रधानमन्त्री से ह्यूस्टन में मुलाकात की थी। उन्होंने साल 2014 के जनमत संग्रह से हमारी एक मांग का जल्द जवाब देने की बात को याद दिलाया था। आज के दिन में हमारी सिर्फ एक ही मांग है जो भारतीय सलाखों से सिख कैदियों की रिहाई है।”

    कल, भारत की सरकार ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के 550 कैदियों को रिहा करने के आग्रह को स्वीकार कर लिया था। यह गुरु नानक की 550 वीं वर्षगाठ के मौके पर किया गया है। सिख ऑफ़ अमेरिका के अध्यक्ष कवलजीत सिंह सोनी और बलजिंदर सिंह ने भारतीय गृह मंत्रालय के ऐलान का स्वागत किया है कि मौत की सजा मिलने वाले सिख  कैदियों को उम्रकैद की सजा दी जाएगी।

    सिख ऑफ़ अमेरिका के समूह के प्रतिनिधियों का नेतृत्व जेसे सिंह ने किया था और वे भारतीय प्रधनामंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात के लिए 21 सितम्बर को टेक्सास में आयोजित हाउडी मोदी कार्यक्रम में शामिल हुए थे। प्रतिनिधि समूह ने एक अन्य मेमोरेंडम दाखिल किया था जिसमे सिख समुदाय के अनुरूप प्रतिक्रियाओं के लिए धन्यवाद कहा था।

     

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *