दा इंडियन वायर » समाचार » अमेरिका की चेतावनी के बावजूद रूस के साथ होंगे तीन समझौते
समाचार

अमेरिका की चेतावनी के बावजूद रूस के साथ होंगे तीन समझौते

भारत रूस

भारत-रशिया शिखर वार्ता में हिस्सा लेने रशियन राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन कल रात दिल्ली पहुंचे, रुसी राष्ट्रपति के भारत दौरे के दौरान करीब 10 बिलियन डॉलर के रक्षा करार पर समझौते होने की उम्मीद हैं। रुसी राष्ट्रपति के इस दो दिवसीय दौरे का असर भारत अमेरिका के रिश्तों पर पड़ सकता हैं।

आज(शुक्रवार) को भारत और रूस के बीच रक्षा क्षेत्र से जुड़े तीन अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने हैं। उनमें से एक रशिया से पांच S-400 मिसाइल प्रणाली खरीदने के डील पर जिसकी कुल लागत करीब ₹39,000 करोड़ हैं। भारतीय नौसेना के लिए रशिया से चार स्टील्थ फ्रिगेट ख़रीदे जाएंगे और सेना के इस्तेमाल के लिए एके-103 राइफल्स को रशिया की मदत से भारत में तयार किया जाएगा।

अमेरिका के ओर से भारत को चेतावनी दी गयी हैं, जिसमें कहा गया हैं की रशिया, ईरान और उत्तरी कोरिया से रक्षा सामग्री खरीदने या बेचने पर काटसा एक्ट के अंतर्गत अमेरिका के ओर से प्रतिबंध लादे जा सकते हैं।

काटसा एक्ट के अंतर्गत लगाए जानेवाले प्रतिबंधो से बचने के लिए भारत के ओर से ट्रम्प प्रशासन से बातचीत जारी हैं, लेकिन अमेरिकी सरकार के ओर से भारत को काटसा एक्ट में छुट देने के संबंध में कोई संकेत नहीं दिए गए हैं। आपको बतादे, पिछले महीने में रशिया से S-400 मिसाइल प्रणाली और सुखोई-35 फाइटर जेट खरीदने के वजह से अमेरिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा चीन पर आर्थिक प्रतिबंध लगाए गए हैं।

बुधवार को वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने कहा रक्षा मंत्रालय के ओर से रूस के साथ S-400 मिसाइल प्रणाली के विषय में डील किए जाने के बाद, अगले 24 महीनों में S-400 मिसाइल प्रणाली को भारत को सोंपा जाएगा। अक्टूबर 2016 को दोनों देशों के बीच आंतर सरकारी बैठक हुई थी जिसमें रूस के ओर से भारत को S-400 मिसाइल प्रणाली, स्टील्थ फ्रिगेट और एके-103 राइफल्स से जुड़े करार पर दोनों देशों के बीच सहमती बनी थी।

शुक्रवार को नाश्ते के बाद, दोनों नेताओं के बीच राजधानी दिल्ली के हैदराबाद हाउस में प्रतिनिधि स्तर की वार्ता होगी। इस वार्ता के बाद दोनों देशों के बीच करीब 23 समझौते होंगे। इन समझौतों में रक्षा, अंतरिक्ष, निवेश, लघु उद्योग, सडक एवं राजमार्ग से जुड़े समझौतों पर दोनों नेताओं के द्वारा हस्ताक्षर किए जाएंगे।

नयी दिल्ली से मास्को के लिए रवाना होने से पहले राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, पीएम मोदी के साथ बिज़नस समिट को संबोधित करेंगे। और आज देर रात राष्ट्रपति पुतिन रशिया के लिए रवाना होंगे।

About the author

प्रशांत पंद्री

प्रशांत, पुणे विश्वविद्यालय में बीबीए(कंप्यूटर एप्लीकेशन्स) के तृतीय वर्ष के छात्र हैं। वे अन्तर्राष्ट्रीय राजनीती, रक्षा और प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज में रूचि रखते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!