Wed. Feb 21st, 2024

    पाकिस्तान ने भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमला करने के लिए अमेरिकी लड़ाकू विमान एफ 16 का इस्तेमाल किया था, जो वांशिगटन ने आतंकवादियों से लड़ने के लिए मुहैया किया था। पाकिस्तान द्वारा इसके गलत इस्तेमाल करने की अमेरिका पड़ताल कर रहा है। भारतीय वायुसेना ने शुक्रवार को एफ 16 के इस्तेमाल के सबूत दिखाए थे।

    पाकिस्तान ने बुधवार को दावा किया था कि उन्होंने एफ 16 का इस्तेमाल नही किया था और साथ ही वायुसेना के विमान को मार गिराने की बात का भी खंडन किया था। इस बाबत अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि हम इन जानकारियों से अवगत है और इसकी तफ्तीश कर रहे हैं।

    रक्षा विभाग के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल कोन फुंकनेर ने बताया कि “विदेशी सैन्य बिक्री अनुबंधों में अप्रकटीकरण के कारण हम उसमें दर्ज ‘एंड यूजर’ के बाबत चर्चा नहीं कर सकते हैं।” अमेरिका अत्याधुनिक रक्षा उत्पादों को बेचने वाला सबसे बड़ा देश है। अमेरिका रक्षा उत्पादों के गलत इस्तेमाल को बड़ी गंभीरता से लेता है। दस्तावेजो के अनुसार अमेरिका ने पाकिस्तान पर 12 तरह की पाबंदियां लगा रखी है। पाकिस्तान को यह हथियार आतंक विरोधी गतिविधियों के लिए मुहैया किये गए थे।

    संयुक्त राष्ट्र ने भारतीय पायलट अभिनंदन की पाकिस्तान से वापसी का स्वागत किया है। साथ ही दोनो देशों से रचनात्मक बातचीत करने की अपील की है।

    प्रेस कॉफ्रेंस में एयर वाइस मार्शल कपूर ने बताया कि पाक कहता रहा है उसने एफ 16 का इस्तेमाल नही किया लेकिन भारत प्रशासित कश्मीर में एमरैम मिसाइल के टुकड़े बरामद हुए हैं। विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई पर उन्होंने कहा कि उनके वापसी की ख़ुशी है लेकिन पाक ने ऐसा जेनेवा कन्वेंशन के तहत किया है।

    वायुसेना ने कहा कि पाक झूठे दावे कर रहा है, मिसाइल के टुकड़ों के आलावा इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर भी मिले हैं जो पाक के दावे को गलत बताते हैं।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *