Sat. Jun 15th, 2024
    अमेरिका तूफ़ान की चपेट में

    मध्य और दक्षिणी अमेरिका के कई जगहों पर 30 बवंडरो  ने तबाही का मंज़र बना दिया है और 100 से ज्यादा लोगों की जान  जाने की आशंका है। केंटकी के गवर्नर बेशियर का कहना है कि सप्ताहांत में आये बवंडर के कारण मृत लोगो कि संख्या ७४ पहुँच गयी है और 109 लोग के बारे में कोई पता  नहीं है।  

    मृतकों की संख्या बढ़ने का अनुमानन है  क्योंकि अब भी कई लोगो के लापता व मलबे में दबे होने कि आशंका है । अमेरिकी समय के अनुसार शुक्रवार और शनिवार की रात 6 राज्यों के कई शहरों में यह प्राकृतिक आपदा आई।

    घर, नर्सिंग होम, फैक्ट्रियां व सैकड़ों को मलबे में बदला तूफ़ान ने 

    अमेरिकी मौसम विभाग का कहना है कि सबसे बड़े बवंडर ने 400 किलोमीटर तक सब नस्तानबुद कर दिया । केंटकी के गवर्नर एंडी बेशाहियर का यह भी मानना  कि मरने वालों की संख्या 100 से अधिक हो सकती है। उन्होंने बताया कि मोमबत्ती फैक्ट्री  में सबसे ज़्यादा नुक्सान हुआ है। मेफील्ड कि इस फैक्ट्री में करीबन ११० लोग काम कर रहे थे परन्तु इन लोगो के १५ फुट नीचे मलबे में दबे होने कि आशंका है।  

    चेतवानी देने के बावजूद खुला था अमेज़न कंपनी का गोदाम 

    इलिनोइस के एडवर्ड्सविले में एक अमेज़ॅन गोदाम ढहने से छह लोगों की मौत हो गई। दमकल विभाग के प्रमुख जेम्स व्हाइटफोर्ड ने कहा कि  मलबे दबे लोगो के ज़िंदा होने के आसार काम नज़र आते है।  होलसेल रिटेल डिपार्टमेंट स्टोर यूनियन ने खराब मौसम की चेतावनियों के बावजूद गोदाम को खुला रखने के लिए श्रमिकों की मौत के लिए अमेज़न को जिम्मेदार ठहराया है।

    कनाडा में 2 लाख लोगों की बिजली के बिना रहना पड़ना 

    कनाडा के ओंटारियो राज्य में, २ लाख लोगो को बिजली से मेहरू रहना पड़ा क्योंकि तूफान के कारण बिजली ढप हो गयी थी । कनाडा सरकार का कहना है कि यहां 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवाएं चल रही थी।  

    इन राज्यों में भी बरपाया तूफ़ान ने कहर:

    टेनिसी: शनिवार तक 4 मृत घोषित हुए।

    मिसौरी: 2 लोगो ने गवाई जान, गवर्नर माइक पारसंस कई इमारतों की गिरने कि पुष्टि करी। 

    अरकंसास: 2 लोगों ने गवाई जान। 

    मिसीसिपी: कई मकानों और इमारतों को तूफ़ान ने अपनी चपेट में ले लिया।

    Quad-State Tornado क्वैड -स्टेट  टोर्नेडो

    इतिहास की पन्नो को पलटकर देखा जाये तोह तक का सबसे बड़ा बवंडर इलिनोइस है। विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी विक्टर जेनज़िनी के अनुसार, मार्च 1925 के बवंडर ने 3 राज्यों में 355 किमी क्षेत्र को भारी नुक्सान पहुँचाया था। इस बार आये तूफ़ान — क्वाड-टोरनेडो ने ४०० किलोमीटर तक अपना कहर बरसाया है।

    राष्ट्रपति जो बाइडन ने बताया Climate Change को  वजह 

    राष्ट्रपति जो बाइडन ने प्रभावित राज्यों  को सहायता पहुँचाने कि घोषणा करी है  व जलवायु परिवर्तन को इतनी बड़ी आपदा की पीछे का कारण बताया है।  

     

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *