Sat. Jul 20th, 2024
    डोनाल्ड ट्रम्प

    अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने सोमवार को कहा कि “अमेरिका अगले हफ्ते से लाखो अवैध शरणार्थियों को वापस भेजने की प्रक्रिया को शुरू करेगा। गुएतमाला सुरक्षित तीसरे देश की संधि में हस्ताक्षर की तैयारी कर रहा है। अगले हफ्ते आईसीई लाखो अवैध एलियंस को वापस भेजने की प्रक्रिया को शुरू करेगी। जिन्होंने अवैध तरीके से अमेरिका के दरवाजे पर दस्तक दी थी।”

    राष्ट्रपति ने कहा कि “जितनी जल्दी वह अमेरिका में घुसे थे इतनी ही जल्दी उन्हें वापस भेज दिया जाएगा।” डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीटर पर यह जानकारी दी थी। उन्होंने कहा कि गुएतमला सेफ थर्ड एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करने के लिए तैयार है।

    इस संधि के तहत गुएतमला से प्रवेश करने वाले अवैध प्रवासियों को वही शरणार्थी दर्जे के लिए आवेदन करना होगा न कि अमेरिका करना होगा। अमेरिका गुएतमला और अन्य गरीब अमेरिकी देशो से अवैध प्रवासियों के आगमन की चुनौती को झेल रहा है और इसके कारण हिंसा बढ़ रही है।

    ट्रम्प ने इसे एक आक्रमण करार दिया था और अवैध प्रवासन के खिलाफ लड़ाई को उसके प्रशासन की केंद्रीय प्राथमिकता बताई थी। सोमवार को अमेरीका ने कहा था कि वह अब एलसलवाडोर, गुएतमला और होंडुरस को अब अधिक सहायता का  प्रस्ताव नही देंगे जब तक वह अमेरिका की तरफ बढ़ने वाले अवैध प्रवासियों को रोकने के लिए ठोस कदम नहीं उठाते।

    राज्य विभाग के मुताबिक, साल 2019 के वित्त वर्ष में 37 करोड़ डॉलर विदेश नीति की प्राथमिकता के लिए आवंटित कोई गए थे। ओरतगुस ने कहा कि हम उन देशों को कार्यक्रमो के लिए नई रकम मुहैया नही करेंगे जब तक हम त्रिकोणीय सरकार के अमेरिकी सीमा पर आने वाले प्रवासियों की संख्या को कम करने के लिए ठोस कदमो से संतुष्ट नही हो जाते।

    मेक्सिको और अमेरिका के समझौते के तहत वह अपनी दक्षिणी सीमा पर 6000 राष्ट्रीय सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के लिए राजी हो गया है। साथ ही अमेरिका से अपने नागरिकों की वापसी के समझौते को भी बढ़ाने के लिए तैयार हो गया है।

    डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को कहा कि मेक्सिको एक अच्छा कार्य कर रहा है कि हमारी दक्षिणी सीमा से काफी दूर  प्रवासियों को रोक रहा है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *