अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने टाली उत्तर कोरिया के साथ वार्ता

0
डोनाल्ड ट्रम्प- किम जोंग
bitcoin trading

उत्तर कोरिया और अमेरिका के मध्य परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर वार्ता में गहमागहमी चल रही है। अमेरिकी राज्य सचिव माइक पोम्पेओ को मंगलवार को उत्तर कोरिया के अधिकारियों के साथ मुलाकात करनी थी।

अमेरिका के राज्य विभाग की प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के वरिष्ठ कूटनीतिज्ञ और उत्तर कोरिया के प्रतिनिधिमंडल समूह की वार्ता जो गुरुवार को होनी थी, अब उस बातचीत के लिए कोई दूसरी तारीख तय की जाएगी। इस तय तारीख के मुताबिक सभी को सूचना दे दी जाएगी।

राज्य विभाग ने इसबॉथक को रद्द करने का कोई अन्य कारण नही बताया हैं। हाल ही में उत्तर कोरिया ने मांग की थी कि अमेरिका अपने लगाए प्रतिबंधों को हटाए। एक दिन पूर्व ही अमेरिस राज्य प्रवक्ता ने ऐलान किया था कि माइक पोम्पेओ उत्तर कोरिया के शासक के दाहिने हाथ किम योग चोल से मुलाकात करेंगे। इस बैठक में वे परमाणु निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया और डोनाल्ड ट्रम्प और किम जोंग उन की आगामी बैठक के बातचीत करेंगे।

इससे पूर्व उत्तर कोरिया के शासक और अमेरिका के राष्ट्रपति बीते जून में सिंगापुर में मिले थे। अमेरिका उत्तर कोरियाई प्रशासन पर दबाव बनाकर परमाणु निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया को अंतिम चरण तक पहुंचाना चाहता है। पिछले सप्ताह उत्तर कोरिया ने अमेरिका को धमकी दी थी कि अगर अमेरिका ने बैठक में टाल मटोल का रवैया अपनाया तो पियोंगयांग अपनी पुरानी नीति को दोबारा अपनाने पर विचार कर रहा है।

माइक पोम्पेओ ने रविवार को कहा था कि अमेरिका उत्तर कोरिया की धमकियों से नही डरता और वांशिगटन तब तक उत्तर कोरिया से प्रतिबंध नही हटायेगा, जब तक पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण नही हो जाता।

माइक पोम्पेओ इस वर्ष चार बार उत्तर कोरिया की यात्रा पर गए हैं। डोनाल्ड ट्रंप कोरिया जंग की आधिकारिक समाप्ति के लिए उत्तर कोरिया के शासक पर कूटनीतिक दबाव भी बना रहे हैं। अमेरिका के आलोचकों के मुताबिक उत्तर कोरिया मिसाइल साइट को नष्ट करने का सिर्फ दिखावा कर रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here