Thu. Jul 25th, 2024
    amit shah

    मिदनापुर, 7 मई (आईएएनएस)| भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना महाभारत के दुष्ट राजकुमार दुर्योधन के साथ करने को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की निंदा की और कहा कि 23 मई के लोकसभा चुनाव के परिणाम तय करेंगे कि मोदी दुर्योधन हैं या अर्जुन (महाभारत के नायक)।

    शाह ने बंगाल के मिदनापुर में एक चुनावी सभा में कहा, “प्रियंका गांधी ने मोदी जी की तुलना दुर्योधन से की है। देश के लोग 23 मई को तय करेंगे कि कौन दुर्योधन है और कौन अर्जुन। प्रियंका जी चिंतित मत होइए लोग बताएंगे कि मोदी जी दुर्योधन है या अर्जुन।”

    इससे पहले दिन में हरियाणा के अंबाला में एक रैली में प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए उनकी तुलना महाभारत के पात्र दुर्योधन से की। प्रियंका ने कहा, “मोदी, दुर्योधन की तरह अहंकारी हैं।”

    प्रियंका ने यह हमला मोदी द्वारा उनके पिता राजीव गांधी को ‘भ्रष्टाचारी नंबर 1’ कहे जाने पर किया।

    विपक्ष के महागठबंधन में शामिल पार्टियों पर कटाक्ष करते हुए शाह ने यहां कहा कि इसके नेताओं ने 2019 के चुनाव में 51 बार से ज्यादा मोदी का अपमान किया है।

    उन्होंने कहा, “मोदी जी का अब तक 51 से ज्यादा बार अपमान किया गया है।”

    उन्होंने कहा, “कांग्रेस के नेताओं पवन खेड़ा ने मोदी की तुलना ओसामा बिन लादेन से की, विजय शांति ने उन्हें आतंकवादी बताया, मल्लिकार्जुन खड़गे ने उन्हें हिटलर कहा, जबकि संजय निरूपम ने उन्हें गंवार कह मजाक बनाया। क्या यह एक प्रधानमंत्री का अपमान नहीं है।”

    उन्होंने कहा, “अगर एक पूर्व प्रधानमंत्री का अपमान किया जाता है तो कांग्रेस नेता आपत्ति जताते हैं, लेकिन जब मौजूदा प्रधानमंत्री का अपमान किया जाता है तो वे इसके विरोध में एक शब्द नहीं बोलते हैं।”

    अमित शाह ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के खिलाफ मोदी की टिप्पणी का भी समर्थन किया। उन्होंने कहा कि सच्ची घटनाओं का जिक्र करने को किसी का अपमान नहीं कहा जा सकता। शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से स्पष्ट करने को कहा कि बोफोर्स रक्षा सौदा मामला या भोपाल गैस त्रासदी जैसी घटनाएं क्यों हुईं, जब उनके पिता प्रधानमंत्री पद पर थे।

    शाह ने रैली में लोगों से पूछा, “राहुल गांधी कह रहे है कि उनके पिता का अपमान किया गया है। मुझे बताएं, क्या सच के बारे में किसी को याद दिलाना अपमान कहा जा सकता है।”

    उन्होंने कहा, “मोदी जी कहते हैं कि बोफोर्स घोटाला राजीव गांधी के कार्यकाल के दौरान हुआ। क्या उन्होंने कुछ गलत कहा। राहुल गांधी को लोगों को बताना चाहिए कि क्या बोफोर्स घोटाला, भोपाल गैस त्रासदी, शांति सेना की चूक और कश्मीरी पंडितों का नरसंहार उनके पिता के प्रधानमंत्री रहते हुए हुआ था या नहीं।”

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *