Fri. Jun 14th, 2024
    amit-shah-

    भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि पार्टी ने फैसला किया हैं कि आगामी लोकसभा चुनाव में 75 वर्ष से अधिक आयु वाले नेताओं को टिकट नही दिया जाएगा। जिसकी वजह से पार्टी के वरिष्ट नेता लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनहोर जोशी चुनावी मैदान में नही उतार पाए।

    अमित शाह ने कहा कि वह संसद में आने के लिए लोगों का सीधा जनादेश चाहते हैं इसलिए उन्होंने आम चुनाव लड़ने का निर्णय लिया। हांलकि उन्होंने उन सभी अटकलों को तूल नही दिया जिसमें कहा जा रहा था कि अगर भाजपा की केंद्र में दोबारा वापसी करती हैं तो वह सरकार का हिस्सा बन सकते हैं। इस पर शाह ने कहा कि इस तरह की बातों का कोई आधार नही हैं उन्होंने राज्यसभा के सदस्य होने के बाद भी कोई मंत्री बन सकता हैं।

    पार्टी के वरिष्ट नेताओं को टिकट न दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मीडिया ही इस मुद्दे को खींच रही हैं। पार्टी का फैसला हैं कि 75 वर्ष से अधिक आयु वाले किसी भी व्यक्ति को टिकट न दिया जाए। अपने निर्वाचन क्षेत्र गांधीनगर के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि में 25 वर्षों से विधायक रहा हूं। मैं एक राजनीतिक कार्यकर्ता हूँ जो लोगों के बीच में रहता हैं। जब मेरा विधानसभा कार्यकाल खत्म हुआ तब कोई लोकसभा चुनाव नही थे। तो फिर मैं राज्यसभा गया। मैं संसद में जाने के लिए लोगों का सीधा जनादेश चाहता था इस पर पार्टी भी सहमत हो गई। भाजपा ने गांधीनगर सीट जहा से वरिष्ट नेता लाल कृष्ण आडवाणी खड़े होते थे उनके स्थान पर अमित शाह को उतारा हैं।

    अमित शाह ने कहा कि’ इस बार के चुनाव में नरेंद्र मोदी का नेतृत्व और राष्ट्रिय सुरक्षा पार्टी के दो मुख्य मुद्दे हैं’। शाह ने आगे कहा कि ‘मोदी आतंकवाद को कतई बर्दशत नही करने की नीति लेकर आए हैं और यह नीति सफल हुई हैं। उन्होंने कहा कि हम ने सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक की । इन दोनों कारवाईयों से दुनिया में एक सदेंश गया कि अमेरिका और इज़राइल  के अलावा अन्य कोई देश हैं जो अपने सशस्त्र बलो के जवानों की हत्या का बदला ले सकता हैं तो वह भारत हैं’।

    बालाकोट एयर स्ट्राइक पर  भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पाकिस्तानी सेना और प्रधानमंत्री ने स्वीकार किया कि उनका काफी नुकसान हुआ हैं।वह बदला लेने की तैयारी कर रहे थे और तब भी विपक्ष सबूत मांग रहा था। उन्होंने कहा कि ‘मेरा मानना हैं कि यह हमारे सशस्त्र बलों का अपमान हैं। विपक्ष को अपने वोट बैंक की राजनीति इतना नीचे गर के नही करनी चाहिए’।

    भाजपा के सांसदों के समक्ष सत्ता विरोध लहर पर पुछे गए सवाल पर अमित शाह ने कहा कि “हर सीट से मोदी चुनाव लड़ रहे हैं न की वह सांसद”।

    उन्होंने कहा कि “इस भ्रम को  ठीक करें कि हर कोई चुनाव लड़ रहा हैं। यह तक कि अमित शाह भी चुनाव नही लड़ रहें हैं। हर सीट से नरेंद्र मोदी चुनाव लड़ रहे हैं। देश नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए मतदान करेगा”।

    राम मंदिर और धारा 370 मुद्दों पर पार्टी के विचारों में अधिक प्रगति न होने पर उन्होंने कहा कि “इस के लिए पार्टी को राज्यसभा और लोकसभा में बहुमत के साथ आना होगा। राम मंदिर का मामला कोर्ट में लंबित हैं। हम फैसले का इंतजार करेगे। लेकिन हमारा रुख इस फैसले पर वही हैं कि उस स्थान पर राम मंदिर जल्द से जल्द बनना चाहिए”।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *