रविवार, अक्टूबर 20, 2019

अमिताभ बच्चन ने “कौन बनेगा करोड़पति” मिलने के तीन महीने बाद साइन किया शो

Must Read

जूनियर हॉकी : सुल्तान जोहोर कप के फाइनल में ब्रिटेन से हारी भारतीय टीम

जोहोर बाहरू (मलेशिया), 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय जूनियर पुरुष हॉकी टीम को यहां नौवें सुल्तान जोहोर कप के फाइनल...

चीन-रूस संयुक्त आतंक-रोधी अभ्यास

बीजिंग, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीनी सशस्त्र पुलिस और रूसी राष्ट्रीय रक्षक ने आतंक-रोधी अभ्यास रूस के नये साइबेरिया शहर...

ब्रिक्स देशों में आपस में एकता होनी चाहिए : चीन

बीजिंग, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय कमेटी के पोलित ब्यूरो के सदस्य, केंद्रीय वैदेशिक मामलात कमेटी...
साक्षी बंसल
पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

कौन बनेगा करोड़पति” के लिए अमिताभ बच्चन को साइन करना मुश्किल था और उन्हें मनाने के लिए शो की टीम को उन्हें लंदन ले जाना पड़ा, ये दिखाने के लिए कि शो किस बारे में हैं। और संपर्क होने से तीन महीने बाद, सुपरस्टार ने आखिरकार शो साइन किया था।

वह शो के लिए एकमात्र पसंद थे। उस वक़्त उनकी उम्र 57 थी और उनकी ज्यादातर फिल्में चल नहीं रही थी लेकिन फिर भी उनका नाम हर भारतीय जानता था।

ये बात एक नयी किताब- ‘द मेकिंग ऑफ़ स्टार इंडिया: द अमेजिंग स्टोरी ऑफ़ रुपर्ट मुर्दोच इंडिया एडवेंचर’ में लिखी है जिसका लेखन वनिता कोहली खांडेकर ने किया है।

अमिताभ बच्चन

लेखक का कहना है कि लंदन में, बच्चन ने पूरा दिन एल्सट्री स्टूडियो में “हू वांट्स टू बी ए मिलियनेयर” के यूके संस्करण के सेट पर बिताया, जिसे क्रिस टारेंट द्वारा होस्ट किया जा रहा था। उन्होंने खुद नाटक, पैमाने देखा और देखा कि कैसे शो सभी को शामिल कर रहा है।

जून 2000 में मुंबई के फिल्म सिटी में एक विशेष रूप से निर्मित सेट पर शो की शूटिंग शुरू होने से पहले, अनुमानित 1.2 मिलियन कॉल प्राप्त हुए थे। किताब में लिखा है-“जब बच्चन ने शूटिंग के पहले दिन सेट पर प्रवेश किया, तो सभी लाइट बंद हो गईं। कहीं न कहीं एक बड़ी तकनीकी खराबी आ गई थी। तीन घंटे के इंतजार के बाद शूटिंग रद्द कर दी गई। अमिताभ ने सोचा यह एक बुरा शगुन था।”

अमिताभ बच्चन

और फिर 3 जुलाई, 2000 को रात 9 बजे एक बारिश के साथ, भारतीय घरों में बच्चन की मध्यम आवाज़ गूंजने लगी-”मैं अमिताभ बच्चन बोल रहा हूँ और आप देख रहे हैं कौन बनेगा करोड़पति।

“उस वक़्त के सबसे बड़े शो-‘अमानत’ और ‘हसरतें’ और ‘दास्तान’ ने रेटिंग चार्ट पर 9 से 15 के बीच प्रदर्शन किया। पहले हफ्ते के भीतर, केबीसी ने 10 की रेटिंग हासिल की। उस साल अगस्त में यह 18 को पार कर गया था।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

जूनियर हॉकी : सुल्तान जोहोर कप के फाइनल में ब्रिटेन से हारी भारतीय टीम

जोहोर बाहरू (मलेशिया), 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय जूनियर पुरुष हॉकी टीम को यहां नौवें सुल्तान जोहोर कप के फाइनल...

चीन-रूस संयुक्त आतंक-रोधी अभ्यास

बीजिंग, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीनी सशस्त्र पुलिस और रूसी राष्ट्रीय रक्षक ने आतंक-रोधी अभ्यास रूस के नये साइबेरिया शहर के उपनगर में किया। शुक्रवार...

ब्रिक्स देशों में आपस में एकता होनी चाहिए : चीन

बीजिंग, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय कमेटी के पोलित ब्यूरो के सदस्य, केंद्रीय वैदेशिक मामलात कमेटी के प्रधान यांग च्येछी ने...

कई देशों के कम्युनिस्ट नेता बने चीन की उपलब्धियों के प्रशंसक

बीजिंग, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। विश्व कम्युनिस्ट पार्टी और लेबर पार्टी अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन तुर्की के इजमिर में आयोजित हो रहा है। सम्मेलन के दौरान विभिन्न...

दिल्ली : जैश के निशाने पर 400 से ज्यादा इमारतें, बाजार (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद राजधानी में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के फिराक में बैठा है, और राजधानी की...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -