Mon. Jul 22nd, 2024

    तृणमूल कांग्रेस सांसद अभिषेक बनर्जी और विपक्ष के भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी के बीच आमना-सामना जारी है। अभिषेक ने सिंचाई विभाग द्वारा गलत नीतियों का आरोप लगाया है जिसमें सुवेंदु अधिकारी ने तृणमूल कांग्रेस के मंत्री के रूप में कार्य किया था। अभिषेक ने आरोप लगाया कि इन घटिया नीतियों की वजह से चक्रवात यास के दौरान मानव पीड़ा बढ़ गई थी। 

    “वह दीघा-शंकरपुर विकास बोर्ड के अध्यक्ष थे। हालांकि, उन्होंने लोगों के विकास के लिए काम नहीं किया। उन्होंने इसके बजाय लोगों का पैसा सिर्फ बर्बाद किया है और अब सड़कें पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है”- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने सुवेंदु अधिकारी ने उनका नाम लिए बिना यह सब कहा। दूसरी ओर भाजपा के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कल उन्हें (अभिषेक बनर्जी) को “किशोर” आयु का बताते हुए फटकार लगाई।

    हाल ही में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक ने दीघा, ताजपुर क्षेत्रों का दौरा किया और लोगों को आश्वासन दिया कि सरकार उन्हें जल्द ही सामान्य जीवन में वापस लाने में मदद करेगी। अभिषेक ने कहा कि उनके लिए लोगों की जान पहले आती है और यहां हर कोई हमेशा सुरक्षित रहेगा यह हमारा वादा है। टीएमसी सरकार सभी की मदद करेगी।

    भाजपा के नेता सुवेंदु अधिकारी भी चुप नहीं बैठे और अभिषेक की टिप्पणियों के जवाब में कहा “तृणमूल कांग्रेस की सरकार के ठीक से काम ना करने  की वजह से पश्चिम बंगाल में बांधों और खराब सड़कों के बुनियादी ढांचे को भारी नुकसान हुआ है। बांध की मरम्मत के नाम पर सिर्फ पानी में बोल्डर फेंक कर मामूली मरम्मत करा कर खानापूर्ति कर दी जाती है।

    इस बीच सुवेंदु अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी ने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि सुवेंदु अधिकारी ममता दीदी की पार्टी छोड़कर भाजपा में इसलिए आ गए क्योंकि वहां उन्हें  बंगाल के लोगों के लिए काम नहीं करने दिया जाता था। 

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *