Sat. Jun 22nd, 2024
    अफगानिस्तान के सुरक्षा कर्मी

    अमेरिका के विभाग पेंटागन ने कहा कि अफगानिस्तान का सबसे विश्वसनीय क्षेत्रीय साझेदार भारत है। उन्होंने कहा कि जंगी देश अफगानिस्तान में भारत के शांति प्रयासों की हम सराहना करते हैं। पेंटागन ने अपनी अर्द्ध सालाना रिपोर्ट कांग्रेस के समक्ष रखी, जो जून से नवम्बर 2018 तक की थी। उन्होंने कहा कि भारत की नई अमेरिकी दक्षिण एशिया पालिसी अफगानिस्तान के साथ आर्थिक साझेदारी का बेहतरीन अवसर है।

    दक्षिण एशिया रणनीति का ऐलान डोनाल्ड ट्रम्प ने अगस्त 2017 में किया था। इस रणनीति का मकसद पाकिस्तान पर दबाव बनाकर आतंकी समूहों और चरमपंथियों को समर्थन और संरक्षण न देने के लिए दबाव बना था और अफगानिस्तान में सुलह प्रक्रिया में एक महत्वपूर्व किरदार निभाना था।

    अमेरिकी रणनीति में दक्षिण एशिया की स्थिरता के लिए क्षेत्रीय सहयोग के लिए कहा गया था। पेंटागन में कहा कि अफगानिस्तान का सबसे भरोसेमंद क्षेत्रीय सहायक भारत है और इस इलाके में विकास में सबसे अधिक योगदान भी किया है। साल 2015 से भारत ने एक अरब डॉलर अतिरिक्त विकास सहायता करने का ऐलान किया था जबकि पूर्व ही दो अरब डॉलर अफगान इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश किये थे।

    पेंटागन ने कहा कि भारत तुर्कमेनिस्तान-अफगानिस्तान-पाकिस्तान-इंडिया प्राकृतिक गैस पाइपलाइन पर भी निवेश कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत ने अफगान सैनिकों को सार्थक प्रशिक्षण के अवसर दिए हैं और साथ ही अफगान को अपना दायित्व बांटने का प्रस्ताव भी देता रहा है। उन्होंने कहा कि सालाना औसतन 130 अफगानी भारत में मिलिट्री अकादमी और कमीशनिंग प्रोग्राम में उपस्थित होने के लिए आते हैं।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *