Thu. Jul 25th, 2024
    अफगानिस्तान की सेना

    अफगानिस्तान के शहर जलालाबाद की कंस्ट्रक्शन कंपनी में बुधवार को एक फियादीन हमलावर और बंदूकधारी ने हमला कर दिया और 16 कर्मचारियों को मार दिया।

    नांगरहार प्रान्त के गवर्नर के प्रवक्ता ने बताया कि “यह हमला तब शुरू हुआ, जब दो फियादीन हमलावरों ने खुद को कंपनी के बाहर उड़ा दिया और बंदूकधारी ने ओपन फायर शुरू कर दी थी।”

    भयावह फियादीन हमला

    उन्होंने कहा कि “तीन बंदूकधारी और दो फियादीन हमलावर समेत पांच हमलावरों को मार गिराया गया है। इसके साथ ही कई सुरक्षाकर्मियों सहित कंपनी के 16 कर्मचारियों को मार दिया गया है। इस आतंकी हमले की अभी किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली हैं।

    नांगरहार प्रान्त की राजधानी जलालाबाद है, जो पाकिस्तान की सीमा से जाकर मिलती हैं। यह अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट का मजबूत गढ़ हुआ करता था। आईएस एक समय अफगानिस्तान में सबसे खतरनाक चरमपंथी समूह बनकर उभरा था।

    एक अधिकारी ने बताया कि कंपनी के चार कर्मचारियों को अस्पताल ले जाया गया था और उनकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई है।

    हाल ही में तालिबान आतंकवादी और आत्मघाती हमलावरों के एक समूह ने हेलमंद प्रान्त में सेना के ठिकानों पर हमला कर दिया था। ख़बरों के मुताबिक हमले की शुरुआत 215 वीं माइविंड कॉर्प्स मुख्यालय में हुई थी।

    प्रांतीय सरकार के मीडिया दफ्तर से बयान जारी हुआ कि इस आतंकी हमले पर जवाबी कार्रवाई करते हुए सुरक्षाबलों ने तीन आत्मघाती हमलावरों और छह आतंकियों को मार गिराया था। इस हमले को सुबह 4 बजे अंजाम दिया गया था और इस हमले में साथ हमलावरों के आलावा 27 थे।

    पाक से परेशान अफगानिस्तान

    अफगानिस्तान ने 21-22 जनवरी को एक पत्र यूएन को लिखा, जिसमे उन्होंने ‘पाक सेना द्वारा सीमा पर अतिक्रमण की कोशिश करने की शिकायत की है।’ अफगान सरकार ने यूएन से दरख्वास्त की है कि इस समस्या का समाधान करने के लिए जरुरी कदम उठाये। पत्र के मुताबिक पाक ने साल 2017 से 2018 में 28849 गोले दागे थे। इस कारण अफगानिस्तान में 22 लोगों की मौत हो गयी थी और 187 लोग जख्मी हुए थे।

    संयुक्त राष्ट्र में अफगानिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि नजीफुल्ला सलारजाई ने पत्र में लिखा कि “पाक निरंतर सीमा पर गोलीबारी कर रहा है। खासकर, नांगरहार और कुनार प्रान्त में गोलीबारी जारी है। पाकिस्तानी अपने सैन्य विमान भेजकर, बाड़ लगाकर, बैरियर बनाकर अफगानी सरजमीं पर अतिक्रमण कर रहा है।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *