Sat. Feb 24th, 2024
    अनुराग ठाकुर ने एनिमेटेड सीरीज़ ‘केटीबी- भारत हैं हम’ का किया ट्रेलर लॉन्च

    केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने बुधवार को वर्ष 1500 से 1947 तक के भारतीय स्वतंत्रता संग्राम पर आधारित एनिमेटेड सीरीज़ ‘केटीबी- भारत हैं हम’ का ट्रेलर लॉन्च किया। यह केन्द्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और ग्राफिटी स्टूडियो द्वारा निर्मित दो सीज़न वाली एक एनिमेटेड सीरीज़ है। इस सीरीज़ की होस्ट प्रतिष्ठित एनिमेटेड पात्रों कृष, ट्रिश और बाल्टिबॉय द्वारा की गई है। इस सीरीज़ का निर्माण ग्राफिटी स्टूडियोज के मुंजाल श्रॉफ और तिलकराज शेट्टी की सह-निर्माता जोड़ी ने किया है।

    अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह सीरीज़ युवाओं को स्वतंत्रता संग्राम के उन गुमनाम, लेकिन महत्वपूर्ण योगदान करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में शिक्षित करने का एक प्रयास है जिन्हें अतीत की शिक्षा प्रणाली ने भुला दिया था और उनका पर्याप्त उल्लेख नहीं किया गया था।

    इसके साथ ही यह सीरीज़ उन लोगों की कहानी सामने लाकर युवा पीढ़ी को प्रेरित करने का प्रयास कर रही है जिनके योगदान ने आधुनिक भारत को आकार दिया है। यह सीरीज़ विदेशी भाषाओं सहित कई भाषाओं में रिलीज होगी, जो भाषा की बाधाओं को पार कर इन सेनानियों की कहानियों को पूरी दुनिया के दर्शकों तक पहुंचाएगी।

    ठाकुर ने कहा कि दूरदर्शन, नेटफ्लिक्स और अमेज़ॅन प्राइम एक ही समय में इस एनिमेटेड सीरीज़ का प्रसारण करेंगे। यह  ऐसा प्रयास है, जो इससे पहले कभी नहीं किया गया है। इस सी‍रीज़  में एक प्रमुख केंद्र बिंदु विदेशी उपनिवेशवादियों के खिलाफ किए गए संघर्ष में महिलाओं और जनजातीय स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को दर्शाना है।

    उन्होंने यह घोषणा की कि यह सीरीज़ अगले सत्र के दौरान सभी सांसदों को दिखाई जाएगी।

    पीएम मोदी के पंच प्रण को दोहराते हुए उन्होंने लोगों से राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाने का आह्वान करते हुए कहा कि जहां स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना बलिदान दिया, वहीं आज के युवाओं को भी अमृतकाल से स्वर्णिमकाल तक इस देश को ले जाने में अपना पूरा योगदान देना होगा।

    प्रत्येक एपिसोड में लोकप्रिय पात्र कृष, ट्रिश और बाल्टिबॉय (केटीबी) होंगे, जो प्रशंसित केटीबी मूवी सीरीज़ से पहले से ही काफी लोकप्रिय है, इन गुमनाम नायकों की कहानियों को उजागर करने वाले संवाद शुरू करेंगे।

    भारत के स्वतंत्रता संघर्ष की विविधता को अपनाते हुए  यह श्रृंखला विभिन्न क्षेत्रों से होकर गुजरेगी, जिसमें हिमाचल प्रदेश, बंगाल, पंजाब, केरल और उससे आगे के स्वतंत्रता सेनानियों को शामिल किया जाएगा।

    रानी अब्बक्का, तिलका मांझी, तिरोत सिंह, पीर अली, तात्या टोपे, कोतवाल धन सिंह, कुँवर सिंह (80 वर्षीय स्वतंत्रता सेनानी), रानी चेन्नम्मा, टिकेंद्र जीत सिंह और अन्य ऐसी ही अनगिनत शहीद वीर हस्तियों को इस एनिमेटेड उत्कृष्ट कृति के माध्यम से इतिहास में अपना उचित स्थान मिलेंगा।

    इस सीरीज़ को 12 भाषाओं: हिन्दी (मास्टर), तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, मराठी, गुजराती, पंजाबी, बंगाली, असमिया, उड़िया और अंग्रेजी में बनायी जा रही है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *