Thu. Feb 9th, 2023
    मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी

    आरकॉम के दिवालिया होने से हालांकि रिलायंस के शेयरधारकों, सदस्यों को नुक्सान हुआ हो लेकिन इससे एक व्यक्ति ऐसा है जिसे बहुत फायदा मिल सकता है और वो अनिल अंबानी के बड़े भाई मुकेश अंबानी हैं।

    अनिल अंबानी ने कंपनी को दिवालिया घोषित करने के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में इस शुक्रवार को अर्जी लगाईं थी। यदि वह कोर्ट इस अर्जी को स्वीकार करता है तो इससे रिलायंस कम्युनिकेशन को 270 दिनों की मोहलत दी जायेगी। इन 270 दिनों में या तो वे कर्जदारों का कर्ज चुका सकते हैं या फिर उनको अपनी परिसंपत्तियां बेचनी होंगी।

    दिवालिया होने का कारण :

    इकनोमिक टाइम्स के मुताबिक रिलायंस कम्युनिकेशन ने अपने आप को दिवालिया घोषित करने का निर्णय मुख्या रूप से नकदी की कमी के चलते लिया है जिसके कारण यह लम्बे समय से अपने कर्जदारों कू कर्ज नहीं चूका पाई है। इसके चलते कंपनी के बोर्ड ने इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (आईबीसी) के तहत एनसीएलटी के जरिए फास्ट-ट्रैक रेजोल्यूशन प्रोसेस में जाने का विकल्प चुना है।

    मुकेश अंबानी को किस तरह मिलेगा फायदा ?

    कुछ समय पहले अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशन ने अनिल अंबानी की रिलायंस जिओ के साथ अपने स्पेक्ट्रम बेचने का सौदा किया था लेकिन इस सौदे को टेलिकॉम विभाग द्वारा मंजूरी नहीं दी गयी क्योंकि पहले से ही आरकॉम का कुछ कंपनियों पर कर्ज बाकी था जिससे टेलिकॉम विभाग ने इस सौदे को मंजूरी नहीं दी।

    इसके बाद टेलिकॉम विभाग ने शर्त रखी थी की यदि रिलायंस जिओ आरकॉम का कर्ज चुकाने की पूरी ज़िम्मेदारी ले तो यह  सौदा हो सकता है लेकिन मुकेश अंबानी इससे मुकर गए जिससे आखिरकार यह डील रद्द करनी पड़ी। इससे रिलायंस कम्युनिकेशन अपने कर्ज कम नहीं कर पायी और आज दिवालिया होने की कगार पर है।

    अब यदि रिलायंस कम्युनिकेशन की परिसंपत्तियों को बेचा जा है तो मुकेश अंबानी इनको और भी कम दामों में खरीद सकते हैं।

    रिलायंस के शेयर के मूल्य में लगातार गिरावट :

    रिलायंस को 2017 में जबरदस्ती अपने वायरलेस सञ्चालन बंद करने पड़े थे क्योंकि उससे इसे लगातार घाटा हो रहा था। इस तरह अनिल अंबानी की संपत्ति में लगातार गिरावट आती रही।

    हाल ही में जब रिलायंस ने अपने आप को दिवालिया घोषित होने की नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में अर्जी लगाईं उससे इसके शेयर में लगातार तेज़ गिरावट हो रही है। इतने थोड़े समय में रिलायंस कम्युनिकेशन के शेयर में 54 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट दर्ज की जा चुकी है।

    जैसे जैसे कंपनी को घाटा हो रहा है, इसका कर्ज भी बढ़ता जा रहा है और कुल 45000 करोड़ से ज्यादा हो चूका है।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *