रविवार, अक्टूबर 20, 2019

विधायक अदिति सिंह पर हमले विरोध में कांग्रेस ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा

Must Read

पीकेएल-7 : दिल्ली को हराकर बंगाल ने जीता खिताब

अहमदाबाद, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। मोहम्मद नबी बक्श के सुपर-10 के दम पर बंगाल वॉरियर्स ने शनिवार को यहां ट्रांस्टेडिया...

बाबा जेल में पर राम रहीम के डेरे पर अब भी माथा टेक रहे नेता

सिरसा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। दो साध्वियों के साथ दुष्कर्म और एक पत्रकार की हत्या के मामले में जेल में...

अयोध्या में आधा से ज्यादा बन चुका है राममंदिर : विहिप

लखनऊ , 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। रामंदिर पर विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई पूरी हो चुकी है, और अदालत...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

लखनऊ, 15 मई (आईएएनएस)| रायबरेली में विधायक अदिति सिंह समेत कई जिला पंचायत सदस्यों पर हुए हमले की घटना के विरोध में बुधवार को कांग्रेस पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपा।

प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “राजनीतिक लड़ाई हारने पर भाजपा हिंसा पर आमादा हो गई है। कांग्रेस ने राज्यपाल को 13 मई को ही पत्र भेजकर अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने के दौरान हिंसा की आशंका जता दी थी।” प्रतिनिधिमंडल के अन्य सदस्यों में पी.एल. पुनिया, सुष्मिता देव, संजय सिंह, सेराज मेहंदी शामिल रहे।

कांग्रेस ने जिला प्रशासन पर प्रदेश सरकार के दबाव में काम करने का आरोप लगाते हुए रायबरेली के जिलाधिकारी और एस.पी. को तत्काल हटाने की मांग की है।

राजबब्बर ने कहा, “जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह के भाई दिनेश सिंह रायबरेली से भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी हैं। एमएलसी भी हैं। उन्होंने स्थानीय पुलिस व प्रशासन की मदद से सदस्यों को वोट करने से रोका। इसकी आशंका कांग्रेस ने पहले ही जता दी थी।”

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि राज्यपाल मामले का संज्ञान लेकर उचित कार्रवाई करेंगे।

महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने कहा, “चुनी हुई विधायक के साथ इस तरह का व्यवहार लोकतांत्रिक मयार्दाओं के खिलाफ है। हम इसे बिल्कुल भी हल्के में नहीं ले रहे हैं। पूरे मामले में कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।”

विधायक अदिति सिंह ने कहा, “हम लोग समूह में जिला पंचायत सदस्यों के साथ वोट देने जा रहे थे। हमें पहले ही हमले की आशंका थी, जिसके बारे में जिला प्रशासन को एक दिन पहले ही सूचना दी थी। लेकिन, हमारी सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं किया गया।”

उन्होंने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को तत्काल हटाने की मांग की है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

पीकेएल-7 : दिल्ली को हराकर बंगाल ने जीता खिताब

अहमदाबाद, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। मोहम्मद नबी बक्श के सुपर-10 के दम पर बंगाल वॉरियर्स ने शनिवार को यहां ट्रांस्टेडिया...

बाबा जेल में पर राम रहीम के डेरे पर अब भी माथा टेक रहे नेता

सिरसा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। दो साध्वियों के साथ दुष्कर्म और एक पत्रकार की हत्या के मामले में जेल में बंद चल रहे बाबा राम...

अयोध्या में आधा से ज्यादा बन चुका है राममंदिर : विहिप

लखनऊ , 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। रामंदिर पर विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई पूरी हो चुकी है, और अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया...

ब्रेक्जिट समझौते पर समयसीमा बढ़ी

लंदन, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। ब्रिटेन की संसद में शनिवार को यूरोपीय संघ(ईयू) के साथ प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की सहमति के बाद हुए ब्रेक्जिट समझौते...

आजम को परेशान किया जा रहा, ताकि हमारी सरकार न बने : अखिलेश

रामपुर, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यहां शनिवार को कहा कि आजम खां को इसलिए परेशान किया...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -