Tue. Apr 16th, 2024
    अजंता-एलोरा फिल्म महोत्सव में जावेद अख्तर को पद्मपानी लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से होंगे सम्मानित

    प्रसिद्ध शायर और पटकथा लेखक जावेद अख्तर को आगामी अजंता-एलोरा फिल्म महोत्सव में प्रतिष्ठित पद्मपानी लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। यह घोषणा महोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष नंदकिशोर कागलीवाल और मुख्य मार्गदर्शक अंकुशराव कदम ने की। यह पुरस्कार उनके भारतीय सिनेमा में अविस्मरणीय योगदान के लिए दिया जाएगा।

    अजंता-एलोरा फिल्म महोत्सव का आयोजन छत्रपति संभाजिनगर के एमजीएम यूनिवर्सिटी परिसर में 3 जनवरी, 2024 को होगा। इस समारोह में जावेद अख्तर को पद्मपानी स्मृति चिन्ह, प्रशस्ति पत्र और 2 लाख रुपये का नकद पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। 

    जावेद अख्तर भारतीय सिनेमा में एक बहुमुखी प्रतिभा के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने अपने करियर में शायर, गीतकार, पटकथा लेखक, संवाद लेखक और निर्देशक के रूप में असाधारण योगदान दिया है। उनके लेखन में गहराई, शायराना अंदाज और सामाजिक संवेदना का अनूठा मेल पाया जाता है। उन्होंने कई प्रतिष्ठित फिल्मों के लिए गीत और संवाद लिखे हैं, जिनमें शोले, दीवार, कभी हां कभी ना, लगान, और जंगल जैसे शामिल हैं।

    उनकी फिल्मों ने सिर्फ मनोरंजन ही नहीं किया, बल्कि समाजिक मुद्दों पर भी गंभीर सवाल उठाए हैं। उनके लेखन की यही गहराई और विविधता उन्हें भारतीय सिनेमा के दिग्गजों में शामिल करती है।

    पद्मपानी लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड भारतीय सिनेमा में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। यह पुरस्कार जावेद अख्तर के लंबे और सफल करियर को एक सच्ची श्रद्धांजलि है। उनके इस सम्मान से न सिर्फ फिल्म जगत बल्कि देश भर के सिनेमा प्रेमी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

    यह खबर फिल्म और साहित्य जगत में उत्साह का संचार कर रही है। जावेद अख्तर के प्रशंसक इस सम्मान को उनकी प्रतिभा और योगदान का उपयुक्त प्रतिफल मान रहे हैं। आशा है कि उन्हें मिलने वाला यह पुरस्कार आने वाले पीढ़ियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा और उन्हें भी सिनेमा में उतना ही सफलता और सम्मान प्राप्त करने के लिए प्रेरित करेगा।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *