दा इंडियन वायर » राजनीति » परिवारवाद के आरोपों से परेशान अखिलेश यादव का ऐलान, डिम्पल नहीं लड़ेंगी चुनाव
राजनीति समाचार

परिवारवाद के आरोपों से परेशान अखिलेश यादव का ऐलान, डिम्पल नहीं लड़ेंगी चुनाव

अखिलेश यादव
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि अगर भाजपा और अन्य दूसरी पार्टियां भी अपने परिजनों को टिकट देना बंद कर दें तो मेरी पत्नी डिम्पल भी अगले चुनावों में नहीं लड़ेंगी।

एक निजी कार्यक्रम में हिस्सा लेने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर पहुँचे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी पत्नी डिम्पल यादव अगला चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने कहा कि सपा पर हमेशा ही परिवारवाद की राजनीति करने का आरोप लगा है।

इन आरोपों से आहत सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि अगर भाजपा और अन्य दूसरी पार्टियां भी अपने परिजनों को टिकट देना बंद कर दें तो मेरी पत्नी डिम्पल भी अगले चुनावों में नहीं लड़ेंगी। डिम्पल यादव वर्तमान में कन्नौज से लोकसभा सांसद हैं। बतौर लोकसभा सांसद डिम्पल यादव का यह दूसरा कार्यकाल है।

अखिलेश यादव ने कहा कि सपा अकेला ऐसा दल नहीं है जिसमें परिवारवाद व्याप्त है। सत्ताधारी दल भाजपा में भी परिवारवाद है। भाजपा नेताओं के परिजन भी चुनाव लड़ते हैं। लोगों को भाजपा का भी परिवारवाद देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर सभी दल परिवारवाद की राजनीति छोड़ दें तो मैं ऐलान करता हूँ कि मेरी पत्नी आपको अगले चुनावों में बतौर प्रत्याशी नजर नहीं आएगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सत्ताधारी दल भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि गाय-भैंस की राजनीति करने वाले लोग आज डिजिटल इंडिया की बात कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए उन्होंने क्षेत्र विशेष का विकास करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं पर उनका ध्यान सिर्फ गुजरात पर है। वह शेष देशवासियों के साथ पक्षपातपूर्ण रवैया अपना रहे हैं। अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल के दौरान बने लखनऊदिल्ली एक्सप्रेस-वे को सपा सरकार की महत्वपूर्ण उपलब्धि बताया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथों लेते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि योगी सरकार के कार्यकाल में जो घटनाएं हो रही हैं उसे देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह किस तरह का और कैसा विकास कर रहे हैं।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी की तारीफ करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के बाद भी उनके कांग्रेस उपाध्यक्ष से अच्छे सम्बन्ध हैं। उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों में सपा और कांग्रेस मिलकर लड़ेंगी और भाजपा को उनकी ताकत का एहसास कराएंगी। उन्होंने मोदी सरकार को झूठे वादों की सरकार बताया और कहा कि अपनी नीतियों से जमीनी स्तर पर लोगों को लाभान्वित करने में केंद्र सरकार नाकाम रही है।

About the author

हिमांशु पांडेय

हिमांशु पाण्डेय दा इंडियन वायर के हिंदी संस्करण पर राजनीति संपादक की भूमिका में कार्यरत है। भारत की राजनीति के केंद्र बिंदु माने जाने वाले उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले हिमांशु भारत की राजनीतिक उठापटक से पूर्णतया वाकिफ है।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक करने के बाद, राजनीति और लेखन में उनके रुझान ने उन्हें पत्रकारिता की तरफ आकर्षित किया। हिमांशु दा इंडियन वायर के माध्यम से ताजातरीन राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर अपने विचारों को आम जन तक पहुंचाते हैं।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!