Wed. Feb 1st, 2023
    sharukh khan in rakeshsharma biopi

    शाहरुख़ खान, अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा की जीवनी पर बन रही फ़िल्म में काम कर रहे हैं। फ़िल्म निर्माता रोन्नी स्क्रेव्वाला ने कहा है कि फ़िल्म का काम 2019 के शुरुआती महीनों में ही होने लगेगा। इस फ़िल्म को लिखा है अंजुम राजबली ने और इसे महेश मथाई निर्देशित कर रहे हैं।

    यह फ़िल्म ‘रॉय कपूर फिल्म्स’ और ‘आर एस वी पी फिल्म्स ‘ बैनर तले प्रोड्यूस की जाएगी।

    रिपोर्ट थी कि शाहरुख़ खान के अपोजिट भूमि पेड्नेकर को इस फ़िल्म के लिए साइन किया गया है और फ़िल्म का टाइटल ‘सारे जहां से अच्छा” रखा गया है लेकिन इस बारे में अभी कोई ऑफिसियल अनाउंसमेंट नहीं आई है।

    पी टी आई को दिए गए अपने बयान में रोन्नी ने कहा कि “हम यह फ़िल्म शाहरुख़ खान के साथ कर रहे हैं पर फीमेल लीड के बारे में अभी हमने  कुछ नहीं कहा है।”

    फ़िल्म के प्रोडयूसर जो सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान स्टारर ‘केदारनाथ’ भी बना रहे हैं ने बताया कि वह जो भी फ़िल्में बना रहे हैं उनमें और भी ज्यादा मन लगाना चाहते हैं।

    उन्होंने ने कहा कि “इस बार मुझ पर कोई बाध्यता नहीं है। मैं एक साल में 3 फ़िल्में भी बना सकता हूँ। पर मेरे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि अपनी फिल्मों के द्वारा जो कहानी दर्शकों तक पहुचाना चाहता हूँ वो मैं कर सकूँ।

    आगे उन्होंने यह भी कहा कि मेरी योजना है कि मैं फ़िल्म के हर पहलु पर अच्छी तरह काम करूँगा फिर चाहे वह फ़िल्म की कास्ट हो या स्क्रिफ्ट।

    रोन्नी ने ‘जिओ एम ए एम आई मुंबई फ़िल्म फेस्टिवल’ में जहाँ उनकी फ़िल्म ‘मर्द को दर्द नहीं होता’ का प्रीमियर था में कहा कि इस फ़िल्म के लिए मुझे डायरेक्टर वासन बाला ने पूछा था और मैंने उनका दृष्टीकोण समझ लिया था।

    उन्होंने यह भी कहा कि “यदि आप स्क्रिफ्ट देखतें हैं और इसे पढ़ते हैं उस समय आपके दिमाग में यह सवाल आ सकते हैं कि क्या, कैसे और क्यों हो रहा है ? मेरे लिए वासन के साथ लम्बे समय तक काम करना बहुत जरूरी था। मैंने वसन के दृष्टीकोण को समझा और इसपर काम करने का निश्चचय किया।

    “इस प्रकार की फिल्मों के बारे में हमें यह सोचना पड़ता है कि इन फिल्मों को मुख्यधारा में लाने के लिए और क्या कर सकते हैं। इसलिए फ़िल्म में अलग तरह के अच्छे गाने डाले गए और फ़िल्म की कास्ट पहले से ही उम्दा थी।”

    यह फ़िल्म एक ऐसे आदमी की कहानी है जिसको कभी दर्द महसूस नहीं होता और वह किसी टूर्नामेंट में 100 आदमियों को हराना चाहता है। इस एक्शन कॉमेडी ने टोरंटो इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल में अवार्ड्स जीते और लोगों की वाह-वाही बटोरी। पर रोन्नी मानते हैं कि फ़िल्म की असली परीक्षा थिएटर में होगी।

    रोन्नी ने कहा कि “असली प्रतिक्रिया और परीक्षा तब होगी जब हम फ़िल्म को थिएटर में रिलीज़ करेंगे। टी आई ऍफ़ ऍफ़ में मिली प्रतिक्रिया और अवार्ड बहुत प्यारे थे। जब फ़िल्म का प्रदर्शन हो रहा था तो कोई भी अपनी जगह से हिला तक नहीं।

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *