दा इंडियन वायर » धर्म » Page 7

Category - धर्म

धर्म

लक्ष्मी जी की आरती

लक्ष्मी जी की आरती महालक्ष्मी नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं सुरेश्वरि । हरि प्रिये नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं दयानिधे ॥ पद्मालये नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं च सर्वदे । सर्वभूत...

धर्म

शिव चालीसा

शिव चालीसा (शाब्दिक रूप से शिव पर चालीस चौपाई) एक भक्तिपूर्ण स्तोत्र है जो हिंदू देवता, भगवान शिव को समर्पित है। शिव पुराण के अनुसार, इसमें 40 (चालिस) चौपाई...

धर्म

आरती वैष्णों देवी

वैष्णो माता की आरती जय वैष्णवी माता, मैया जय वैष्णवी माता । हाथ जोड़ तेरे आगे, आरती मैं गाता ॥ ॥ जय वैष्णवी माता…॥ शीश पे छत्र विराजे, मूरतिया प्यारी ।...

धर्म

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ श्लोक

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ श्लोक वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ अर्थ – घुमावदार सूंड वाले, विशाल...

धर्म

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥ आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की ॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला । श्रवण में...

धर्म

माँ कालकाजी मंदिर

कालकाजी मंदिर एक हिंदू मंदिर या मंदिर है, जो हिंदू देवी काली को समर्पित है। मंदिर भारत के कालकाजी में, दिल्ली के दक्षिणी भाग में स्थित है, एक ऐसा इलाका जो...

धर्म

तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये – भजन

नवदुर्गा, दुर्गा पूजा, नवरात्रि, नवरात्रे, नवरात्रि, माता की चौकी, देवी जागरण, जगराता, शुक्रवार दुर्गा तथा अष्टमी के शुभ अवसर पर गाये जाने वाला प्रसिद्ध व...

धर्म

रामचंद्र स्तुति – श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन

श्रीरामचंद्र कृपालु भज मन अथवा राम स्तुति गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित १६वीं शताब्दी का एक भजन है। ईसमे श्रीराम प्रभु के अदभुत गुण एवं शौर्य का वर्णन है।...

धर्म

गणेश जी की आरती

गणेश जी की आरती जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा । माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥ एक दंत दयावंत, चार भुजा धारी । माथे सिंदूर सोहे, मूसे की सवारी ॥ जय गणेश जय...

धर्म

जय अम्बे गौरी आरती

माँ दुर्गा जी की आरती (जय अम्बे गौरी) – Jai Ambe Gauri Aarti जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी, तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी। मांग सिंदूर...

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!