Sat. Dec 10th, 2022
    devendra-fadnavis-

    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कहा है कि 2050 तक एक से अधिक महाराष्ट्रीयन प्रधानमंत्री के पद पर काबिज होंगे। मुख्यमंत्री नागपुर में 16 वें जगतीक मराठी सम्मेलन सम्मिलित होने पहुंचे थे, जब उनसे पूछा गया कि क्या भारत कभी किसी महाराष्ट्रीयन को देश के पीएम के रूप में देखेगा। उन्होंने कहा “क्यों नहीं? बेशक, हम देखेंगे। अगर किसी ने वास्तव में भारत पर शासन किया है, तो यह महाराष्ट्रियन है और हमारे पास उस पद तक पहुंचने की क्षमता है।”

    केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी और कांग्रेस नेता सुशिल कुमार शिंदे भी इस कार्यक्रम में शामिल थे।

    आरक्षण के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आरक्षण कोई समाधान नहीं है और कहा कि अगर आरक्षण हर समुदाय को दिया जाता है, तो भी सरकारी नौकरियों में 90 प्रतिशत युवा पीढ़ी को नहीं दिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार प्रति वर्ष केवल 25,000 नौकरियां दे सकती है।

    पिछले साल, गडकरी ने भी देश में नौकरियों की कमी के बारे में इसी तरह की टिप्पणी की थी और कहा था कि केवल आरक्षण ही रोजगार की गारंटी नहीं देगा क्योंकि देश में नौकरियां कम हो रही हैं।

    गडकरी ने कहा था “मान लीजिए कि आरक्षण दिया गया है लेकिन नौकरियां नहीं हैं। आईटी के कारण बैंकिंग क्षेत्र में नौकरियां सिकुड़ गई हैं। सरकारी भर्तियाँ कम हो गई है। नौकरियां कहां हैं?”

    गडकरी ने शुक्रवार को नागपुर में एक युवा सशक्तिकरण शिखर सम्मेलन में बोलते हुए अपनी बात दोहराई और बेरोजगारी को देश के सामने सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक कहा।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *