रविवार, अप्रैल 5, 2020

सरकार ने रखा 2022 तक 2 लाख मेगावाट अक्षय ऊर्जा क्षमता हासिल करने का लक्ष्य

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...

बिजली एवं नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर.के.सिंह ने बुधवार को मीडिया से रूबरू होते हुए इस बात की जानकारी दी कि भारत अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में 2022 तक 2,00,000 मेगावाट की क्षमता हासिल कर लेगा। उन्होंने कहा कि मार्च 2018 तक 21,000 मेगावाट तक सौर एवं पवन ऊर्जा क्षमता की नीलामी की जाएगी।

जबकि इसी महीने के तीसरे और चौथे चरण में पवन ऊर्जा क्षमता के क्षेत्र में 3,000 से 4,000 मेगावाट क्षमता की नीलामी की जाएगी। जब प्रत्येक चरण में 1500—2000 मेगावाट क्षमता तक की परियोजनाएं स्थापित करने के लिए नीलामी की जाएगी।

पवन-सौर ऊर्जा नीलामी की रूपरेखा के लिये आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आर.के.सिंह ने कहा कि पवन ऊर्जा की दूसरी नीलामी के तहत अक्षय ऊर्जा की खरीद के लिए यूपी, बिहार, पंजाब, असम, झारखंड, ओड़िशा तथा गोवा की बिजली कंपनियों के अतिरिक्त भारतीय सौर ऊर्जा निगम ने बिजली ब्रिकी समझौते पर हस्ताक्षर किए।

पवन ऊर्जा क्षेत्र

सरकार ने इस साल 2,000 मेगावाट क्षमता की पवन ऊर्जा परियोजनाएं लगाने को लेकर पहले और दूसरे चरण में नीलामी की। सरकार ने 2022 तक 60,000 मेगावाट क्षमता की पवन ऊर्जा परियोजनाएं स्थापित करने का जो लक्ष्य रखा उसके लिए साल 2018-19 तथा 2019-20 में क्रमश: 10,000-10,000 मेगावाट क्षमता की परियोजनाओं की नीलामी करेगी। मौजूदा समय में पवन ऊर्जा की स्थापित क्षमता 32,000 मेगावाट है।

सौर ऊर्जा क्षेत्र

सरकार ने मार्च 2018 तक 17,000 मेगावाट क्षमता सौर ऊर्जा सृजित करने का लक्ष्य रखा है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में अब 3600 मेगावाट क्षमता वाली परियोजनाओं की नीलामी की जा चुकी है। केंद्र सरकार 2022 तक क्रमश: 2018-19 और 2019-20 में 30,000-30,000 मेगावाट क्षमता की परियोजनाओं के लिए नीलामी का आयोजन करेगी।

इनमें से ज्यादातर नीलामी के लिए एसईसीआई उपलब्ध होगी। बिजली मंत्री आरके सिंह ने कहा कि भारत 2022 तक 2,00,000 मेगावाट अक्षय ऊर्जा का लक्ष्य हासिल कर लेगा। फिलहाल भारत में अक्षय ऊर्जा की क्षमता 1,75,000 मेगावाट है। उन्होंने कहा कि भाखरा नांगल बांध जैसे जलाशयों में सौर परियोजनाएं तथा तमिलनाडु और गुजरात में पवन ऊर्जा परियोजनाएं लगाने पर विचार किया जा रहा है।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -