Mon. May 29th, 2023
    वाईफाई डब्बा

    रिलायंस जिओ के आने से पहले इंटरनेट डेटा खरीदना एक बहुत बड़ी बात होती है। उस समय एक जीबी डेटा के लिए कम से कम 250 -300 रूपए खर्च करने पड़ते थे। जिओ के आने से इस कीमत में 10 गुना से ज्यादा कटौती हो गयी है। लेकिन अब भी कुछ ऐसी कंपनियां हैं, जो जिओ को भी टक्कर देने की सोच रही हैं।

    बैंगलोर में स्थिति वाईफाई डब्बा नामक एक कंपनी है, जो दूरसंचार जगत में एक नया नाम है। नाम भले ही नया हो, लेकिन कंपनी के प्लान्स इतने आकृषित हैं, कि आप भी एक बारे सोचने पर मजबुर हो जाएंगे।

    वाईफाई डब्बा के संस्थापक शुभेंदु शर्मा कहते हैं, ‘वर्तमान में भारत में डेटा बहुत महंगा है। हमें लगता है कि रिलायंस जिओ ने आने के बाद भी इस व्यापार में हमारे लिए जगह है। हम डेटा कीमतों को और भी सस्ता कर सकते हैं।’

    डेटा प्लान्स

    कंपनी ने अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए छोटे डेटा प्लान्स को चुना है।

    • 100 एमबी – 2 रूपए
    • 500 एमबी – 10 रूपए
    • 1 जीबी – 20 रूपए

    इन सभी डेटा प्लान्स की वैधता 24 घंटे तक रहेगी।

    यदि हम वाईफाई डब्बा और रिलायंस जिओ के डेटा प्लान्स की तुलना करते हैं, तो जिओ 19 रूपए में सिर्फ 150 एमबी डेटा दे रहा है, जबकि वाईफाई डब्बा सिर्फ 20 रूपए में 1 जीबी डेटा देता है। जिओ में एक जीबी पाने के लिए आपको 52 रूपए खर्च करने पड़ेंगे।

    व्यापार योजना

    कंपनी के संस्थापक के मुताबिक वाईफाई डब्बा के जरिये यदि आपके पास सिर्फ 2 रूपए ही हैं, फिर भी आप तेज गति के इंटरनेट का मजा उठा सकते हैं।

    कंपनी की ओर से कहा गया है, ‘हम एक नए प्रकार के नेटवर्क हैं। तेज-गति प्रकार के नेटवर्क। हम बैंगलोर शहर में बहुत तेज-गति वाला इंटरनेट बहुत ही सस्ते दामों में उपलब्ध कराएँगे। सरकार ऐसा करेगी नहीं और बड़ी कंपनियां ऐसा करना नहीं चाह रही हैं। ऐसे में हमें ही ऐसा करना होगा।’

    सुभेंदु का मानना है कि यह तो सिर्फ शुरुआत है और आने वाले समय में वे इसे पुरे देश में फैला देंगे।

    शर्मा के अनुसार उनके ग्राहक तीन वर्ग के लोग हैं। एक तो छोटे रोजगार जैसे मिस्त्री, मजदूर आदि लोग, जिनके पास स्मार्टफोन तो है, लेकिन वे डेटा पर ज्यादा खर्च नहीं कर सकते हैं। इसके बाद स्कूल के बच्चे, जिन्हे कभी कभी कुछ डाउनलोड करने के लिए डेटा की जरूरत होती है। इसके अलावा दूकानदार भी कम दाम में डेटा का आनंद लेना चाहते हैं।

    शर्मा ने बड़ी कंपनियों से अपने आप की तुलना करते हुए कहा, ‘ बड़ी कंपनियों की तरह टावर लगाने के बजाय हम पुरे शहर में लाखों ऐसी वाईफाई डब्बे लगा देंगे, जिसके नेटवर्क से पूरा शहर कवर हो सके।’

    उन्होंने आगे कहा, ‘एक डब्बे को लगाने के लिए हमें 4000 रूपए का खर्चा आता है। यदि हम ऐसे सिर्फ 20 डब्बे लगा दें, तो यह एक टावर जितना काम कर सकते हैं।’

    भविष्य योजना

    वाईफाई डब्बा के संस्थापक के मुताबिक भारत में डेटा को लेकर बाजार में काफी समय तक नयी कंपनियां आ सकती हैं। दरअसल भारत में बाजार इतना बड़ा है, कि कई बड़ी कंपनियां एक साथ काम कर सकती है।

    अभी निकटतम भविष्य में बड़ी कंपनियों में जिओ, एयरटेल, आईडिया और वोडाफ़ोन में कड़ी प्रतिस्पर्था देखने को मिलेगी। चूंकि कम डेटा वाले क्षेत्र में अभी ज्यादा कंपनियां नहीं हैं, ऐसे में वाईफाई डब्बा के लिए यह सुनहरा मौका है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।