Tue. May 21st, 2024
    ज़िम्बाब्वे राष्ट्रपति मुकाबे

    ज़िम्बाब्वे में चल रही राजनैतिक हलचल अब थमती नजर आ रही है। दरअसल राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे ने राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस फैसले के बाद ज़िम्बाब्वे के लोगों में ख़ुशी का माहोल देखने को मिला है।

    रॉबर्ट मुगाबे के कार्यकाल में जिम्बाब्वे की आर्थिक स्थिति काफी धीमी रही है। जिम्बाब्वे में हजारों लोगों ने नौकरियां गंवाई हैं। इसके लिए लोगों ने राष्ट्रपति मुगाबे को जिम्मेदार माना है। मुगाबे के बाद अब लगता है कि जिम्बाब्वे की स्थिति सुधर सकती है।

    मुगाबे के बाद उनकी पार्टी के नेता एमर्सन ज़िम्बाब्वे के अगले राष्ट्रपति होंगे। एमर्सन गुरुवार को राष्ट्रपति पद की शपथ ले सकते हैं। ज़िम्बाब्वे की जनता भी यही चाहती है कि एमर्सन अगले राष्ट्रपति बने।

    एक सूत्र के अनुसार जैसे ही संसद भवन में रॉबर्ट मुगाबे के इस्तीफे की घोषणा की गयी, लोगों में जश्न का माहौल बन गया था। ज़िम्बाब्वे की सड़कों पर लोगों ने जश्न मनाया और डांस किया। लोगों ने कहा कि मुगाबे को अब आराम करना चाहिए।

    दरअसल मुकाबे को पद छोड़ने के लिए आर्मी द्वारा कई विशेष शर्तें उपलब्ध कराई गयी हैं। इसमें तहत मुकाबे और उनकी पत्नी पूरी तरह से स्वतंत्र जीवन व्यापन कर सकेंगे। इसके अलावा मुकाबे के पास हो भी निजी संपत्ति है, उसे भी वे रख सकेंगे।

    रॉबर्ट मुकाबे के इस्तीफे को मंजूरी देने के लिए उनके द्वारा एक पत्र संसद स्पीकर को भेजना होगा, जिसपर वे अभी काम कर रहे हैं।

    इससे पहले रविवार को मुकाबे ने राष्ट्रपति पद छोड़ने से इंकार कर दिया था। इसके बाद हजारों की संख्या में लोग हरारे की सड़कों पर पर उतर आये थे। लोगों ने मुकाबे को तत्काल पद छोड़ने को कहा था।

    अब चूंकि मुकाबे ने इस्तीफा दे दिया है, अगले राष्ट्रपति एमर्सन के लिए रास्ता साफ़ हो गया है। एमर्सन जल्द ही ज़िम्बाब्वे के राष्ट्रपति बन सकते हैं। ( पूरी खबर : कौन हैं ज़िम्बाब्वे के अगले राष्ट्रपति एमर्सन मननगागवा? )

    एमर्सन को राष्ट्रपति बनाने के लिए ज़िम्बाब्वे की सेना ने पूरी कोशिश की थी। पहले सेना ने रॉबर्ट मुकाबे और उनकी पत्नी को गिरफ्तार किया। इसके बाद सेना ने उन्हें राष्ट्रपति पद छोड़ने को कहा था।

    यह भी पढ़ें : एमर्सन मननगागवा : ज़िम्बाब्वे के अगले राष्ट्रपति बनने तक का सफर

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।