Sun. Oct 2nd, 2022
    बिहार के मंत्री सुरेश शर्मा

    कभी शान शौकत से घूमने फिरने वाले राजनेताओं और मंत्रियों के दिन लगता है अब पलट गए है। अब पहले जैसे उन्हें वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं मिल रहा है। जरा जरा सी बात पर लोग नेताओं पर हमले कर रहें हैं।

    शिमला में गूंजे थप्पड़ कांड का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि बंगाल में माहौल गरमा गया। यहां एक होटल कर्मचारियों ने बिहार के मंत्री के साथ बुरी तरह मार पिट की। इस मार पिट में मंत्री जी को भी गंभीर चोटे भी आयी है साथ ही उनके कई सुरक्षा कर्मी भी घायल है।

    बिहार के नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा तारापीठ में पूजा अर्चना करने के बाद ‘सोनार बांग्ला’ नाम के होटल में गए थे जहां उनका विवाद हॉटेल कर्मचारियों से कमरा दिखने को लेकर हो गया। जब कर्मचारियों को सुरक्षा कर्मियों ने मंत्री की पहचान बताई तो अधिकारीयों ने दो तुक बयान दे दिया कि “ऐसे ना जाने कितने मंत्री और नेता यहां आते रहते है”, देखते ही देखते विवाद बढ़ गया और अचानक मारपीट शुरू हो गयी।

    होटलकर्मियों और मंत्री के सुरक्षा गार्डों में जमके मार पिट हुई। होटल कर्मियों ने मंत्री जी पर भी हमले किये जिससे उन्हें चोटे भी आयी।
    पूरी घटना पर अब मंत्री के निजी सचिव संजीव कुमार का मिजाज गर्म है।

    संजीव कुमार का कहना है कि मंत्री जी की सुरक्षा में भारी कोताही बरती गयी। उनके सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता नहीं किये गए और ना ही बंगाल सरकार द्वारा प्रोटोकॉल का पालन किया गया। जिस समय होटलकर्मी मंत्री जी के साथ बदसलूकी कर रहे थे उस समय पुलिस वहां नहीं थी। पुलिस को बुलाया भी गया तो वो वहां बहुत ही देर से आयी।

    घटना पर होटलकर्मियों का कहना है कि विवाद की शुरुआत मंत्री जी की तरफ से हुई थी तथा पहले उनके सुरक्षा कर्मियों ने ही हाथापाई की थी हमने सिर्फ अपने बचाव में हमला किया था” घटना की सुचना स्थानीय थाना को दे दिया गया है जिसके बाद प्राथमिकता दर्ज कर ली गयी है।