गुरूवार, फ़रवरी 20, 2020

सुरक्षा परिषद में उत्तर कोरिया ने कहा: सबसे शक्तिशाली परमाणु और सैन्य देश बनेगा

Must Read

डोनाल्ड ट्रम्प की अहमदाबाद की 3 घंटे की यात्रा के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च करेगी गुजरात सरकार: रिपोर्ट

समाचार एजेंसी रायटर ने बुधवार को सूचना दी कि अहमदाबाद में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की...

डोनाल्ड ट्रम्प के दौरे की तैयारियां भारतियों की ‘गुलाम मानसिकता’ को दर्शाता है: शिवसेना

शिवसेना (Shivsena) ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की बहुप्रतीक्षित यात्रा की चल रही...

“अरविंद केजरीवाल को कभी आतंकवादी नहीं कहा”: प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया कि उन्होंने कभी दिल्ली के...

उत्तर कोरिया के इरादे काफी खतरनाक दिख रहे है। उत्तर कोरिया ने साफ तौर पर संकेत दिए है कि वो भविष्य में सबसे शक्तिशाली परमाणु हथियारों वाला और सैन्य सम्पन्न देश बन जाएगा। इस बात की पुष्टि खुद उत्तर कोरिया के अधिकारी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में दी है।

उत्तर कोरिया ने वैश्विक समुदाय को चुनौती देते हुए कहा है कि वो निरंतर आगे बढ़ेगा और दुनिया का सबसे शक्तिशाली परमाणु और सैन्य देश बन जाएगा।

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सुरक्षा परिषद को चेतावनी दी थी कि कोरियाई प्रायद्वीप पर वर्तमान में सबसे तनावपूर्ण, अशांति व सुरक्षा संबंधी समस्या मौजूद है। इस बयान के बाद ही उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को परमाणु कार्यक्रमों के प्रति अपनी महत्वाकांक्षा को बता दिया।

उत्तर कोरिया दो मोर्चों पर आगे बढ़ेगा

उत्तर कोरिया के स्थायी प्रतिनिधि जा सोंग-नाम ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को सत्र के दौरान बताया कि उत्तर कोरिया लगातार आगे बढ़ेगा और सबसे शक्तिशाली परमाणु और सैन्य देश के रूप में दो मोर्चों के साथ विकास को निरंतर आगे बढ़ाएगा।

गौरतलब है कि ये सत्र सुरक्षा परिषद में उत्तर कोरिया परमाणु व मिसाइल कार्यक्रमों से खतरे को लेकर ही था। उत्तर कोरिया के द्वारा दो मोर्चों के उल्लेख करने का उद्देश्य सैन्य क्षमताओं व इसके साथ अर्थव्यवस्था को बढ़ाना है। हालांकि दोनों ही मोर्चे पर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों की वजह से उत्तर कोरिया कमजोर है।

दुनिया को खतरा नहीं होगा बशर्ते हमें खतरा नहीं हो

हालांकि दुनिया का सबसे शक्तिशाली सैन्य और परमाणु राज्य बनने की ओर अग्रसर होने का दावा करते हुए जा सोंग-नाम ने कहा कि उत्तर कोरिया किसी भी देश और क्षेत्र के लिए कोई खतरा उत्पन्न नहीं करेगा, बशर्ते उसके हितों की रक्षा की जाए।

इस बयान से संकेत मिलते है कि उत्तर कोरिया परमाणु मिसाइलों का प्रयोग उसी देश के खिलाफ करेगा जो उसे परेशान करे व खतरा उत्पन्न करे। सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान उत्तर कोरिया प्रतिनिधि जा सोंग-नाम मिसाइल प्रौद्योगिकी प्रसार के बारे में काफी चुप थे।

अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन पहले चेतावनी देते हुए कहा कि प्योंगयांग के साथ खुले संचार की वार्ता के सभी विकल्प मेज पर है। आगे कहा कि अमेरिका अपने देश की रक्षा के लिए आवश्यक सभी उपायों का उपयोग करेगा।

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए टिलरसन ने कहा कि वाशिंगटन प्योंगयांग से बातचीत के लिए किसी तरह की शर्ते स्वीकार नहीं करेगा।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

डोनाल्ड ट्रम्प की अहमदाबाद की 3 घंटे की यात्रा के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च करेगी गुजरात सरकार: रिपोर्ट

समाचार एजेंसी रायटर ने बुधवार को सूचना दी कि अहमदाबाद में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की...

डोनाल्ड ट्रम्प के दौरे की तैयारियां भारतियों की ‘गुलाम मानसिकता’ को दर्शाता है: शिवसेना

शिवसेना (Shivsena) ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की बहुप्रतीक्षित यात्रा की चल रही तैयारी भारतीयों की "गुलाम मानसिकता"...

“अरविंद केजरीवाल को कभी आतंकवादी नहीं कहा”: प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया कि उन्होंने कभी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)...

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नें नागरिकता क़ानून के खिलाफ विरोध में लिया भाग

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने शुक्रवार को मांग की कि केंद्र देश में शांति और सद्भाव बनाए रखने के लिए संशोधित...

जम्मू कश्मीर मामले में भारत का तुर्की को जवाब; ‘आंतरिक मामलों में दखल ना दें’

भारत ने शुक्रवार को अपनी पाकिस्तान यात्रा के दौरान जम्मू और कश्मीर पर तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन की टिप्पणियों का जवाब दिया...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -