Sat. Nov 26th, 2022
    क्राउन प्रिंस सऊदी अरब

    सऊदी अरब में इस समय भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग चल रही है। सऊदी में मची उथल-पुथल पर विश्व की निगाहें टिकी हुई है। क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की अगुवाई में चल रहे इस अभियान में करीब 201 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसके अलावा सऊदी अरब के बड़े शहजादों, राजनेताओं व हाई प्रोफाइल लोगों को भी हिरासत में लिया गया है।

    एक जानकारी के मुताबिक पिछले कुछ दशकों से अब तक 100 अरब डॉलर (करीब 7000 अरब रुपये) भ्रष्टाचार व गबन की भेंट चढ़ गए है। अटार्नी जनरल सऊद अल मोजेब ने एक बयान जारी कर कहा कि 208 लोगों को शनिवार सुबह तक पूछताछ के लिए बुलाया गया था।

    सात लोगों को बिना किसी आरोप को छोड़ दिया गया। बाकि लोगों से पूछताछ के बाद उन्हें हिरासत मे लिया गया। सऊदी सरकार से मिली एक जानकारी के मुताबिक इस अभियान के तहत करीब 1700 बैंक अकाउंट को फ्रीज किया गया है।

    क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान चर्चा में

    सऊदी अरब समेत पूरी दुनिया में इस समय क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चर्चा में है। मोहम्मद बिन सलमान की अगुवाई में भ्रष्टाचार रोधी कमेटी ने जिस तरह से भ्रष्टाचार को लेकर शहजादों व बड़े लोगों को सलाखों के पीछे डाला है उसको लेकर कई तरह के मायने सामने आ रहे है।

    कई जानकारों का मानना है कि सऊदी अरब अब भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग लड़ रहा है। वहीं बड़ी संख्या में आलोचक इस अभियान की जमकर आलोचना व बुराई कर रहे है।

    इनका मानना है कि सलमान की ये सोची समझी साजिश है जिसके तहत वो सऊदी अरब की सत्ता को हड़पकर अपनी मुट्ठी में करना चाहते है।

    आलोचकों का मानना है कि इस अभियान से क्राउन प्रिंस अपने पैरों पर ही कुल्हाड़ी मार रहे है। वो सिर्फ देश के साथ दुनिया में अपना वर्चस्व दिखाना चाह रहे है। साथ ही अपने विरोधियों को रास्ते से हटाने के लिए ये कदम उठा रहे है।