Fri. Sep 30th, 2022
    संघर्ष के दिनों को याद कर भावुक हुए जैकी श्रॉफ-'तभी गम कम था, जब कमरे कम थे'

    फिल्म ‘हीरो’ से बॉलीवुड को एक ऐसा हीरो मिला जिनका ना केवल अभिनय सबसे जुदा था, बल्कि उनका अंदाज़ भी बाकि अभिनेताओं से एकदम अलग और कमाल का था। वो हीरो हैं जैकी श्रॉफ। हिंदी सिनेमा में इतने दशक काम करने के बाद भी, वह सबसे बहुत ही सज्जनता से पेश आते हैं। इस चमक धमक की दुनिया में जहाँ लोग खुद को मशहूर करने के लिए, अपना व्यक्तित्व ही खो देते हैं, जैकी दादा ने कभी किसी चीज़ के लिए खुद के स्टाइल और अंदाज़ की क़ुरबानी नहीं दी और इसलिए ही बॉलीवुड में अभी भी भिड़ु बाबा के चाहनेवाले उनकी फिल्मो का इंतज़ार करते हैं।

    https://www.instagram.com/p/Bmv8xzYhadO/?utm_source=ig_web_copy_link

    मगर ये मुकाम हासिल करना बिलकुल भी आसान नहीं था। उन्होंने कई रियलिटी शो और इंटरव्यूज के दौरान अपने संघर्ष के दिनों को याद किया है और बताया कि कैसे वह अपनी परवरिश पर गर्व करते हैं। वह कभी भी उन पुराने दिनों के ऊपर बात करने से हिचकिचाए नहीं।

    हाल ही में, राम लखन अभिनेता टीवी रियलिटी शो “सुपर डांसर 3” पर नज़र आये थे। जब बच्चों ने उनके मशहूर गानों पर इतना शानदार प्रदर्शन दिया तो वह काफी चौक गए और बच्चो से प्रभावित हो गए। उन्होंने बच्चो और तीनो जज- गीता कपूर, शिल्पा शेट्टी और अनुराग बसु के साथ बहुत डांस किया और मस्ती की। मगर एपिसोड के दौरान, एक पल ऐसा भी आया जब जग्गू दादा भावुक हो गए।

    https://www.instagram.com/p/BuyZgownvyy/?utm_source=ig_web_copy_link

    दरअसल, जब देहरादून से आये 11 साल के अक्षित भंडारी ने अपनी आपबीती सबको सुनाई तो जग्गू दादा से रुका नहीं गया और उनके आंसू निकल आये। दादा ने बताया कि उनकी कहानी भी बिलकुल अक्षित जैसी है। अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए उन्होंने कहा-

    “मैं भी अपनी ज़िन्दगी के 33 साल चॉल में रहा हूँ। हम 30 लोग थे, केवल 7 फ्लैट और 3 बाथरूम के साथ। मेरी माँ को मेरी स्कूल फीस भरने के लिए बर्तन और कपड़े बेचने पड़ते थे। मगर जो हमें चाहिए, वो है अपने अन्दर एक जादू और हम जो हासिल करना चाहते हैं, कर लेंगे बिना इसकी परवाह किये कि हम कहाँ से आये है। सालों बाद, हीरो बनने के बाद भी, मैं फिर भी उस जगह कुछ साल रहा क्योंकि मैं भावुक तौर पर उस जगह से जुड़ा हुआ था।”

    https://www.instagram.com/p/BsTXVXxnaDH/?utm_source=ig_web_copy_link

    जैकी ने फिर आखिर में मुस्कुरा कर कुछ ऐसा कहा जिसने वहाँ मौजूद सभी लोगों का दिल जीत लिया। उन्होंने कहा-“तभी गम कम था, जब कमरे कम थे।”

    फिल्मों की बात की जाये तो, जैकी अब फिल्म ‘रॉ:रोमियो अकबर वाल्टर’ में दिखाई देंगे। रोबी ग्रेवाल निर्देशित फिल्म में जॉन अब्राहम, मौनी रॉय और सिकंदर खेर ने भी अहम किरदार निभाया है। फिल्म इस साल 5 अप्रैल को रिलीज़ हो रही है।

    https://youtu.be/IV5trzGbYgw

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.