Fri. May 24th, 2024
    आतंकी हाफिज सईद

    मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड व जमात-उद-दावा प्रमुख आतंकी हाफिज सईद को जब से इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने नजरबंदी से रिहा किया है वो लगातार भारत व अमेरिका के खिलाफ जहर उगल रहा है। हाफिज सईद दोनों देशों को धमकी तक दे चुका है। अब हाफिज सईद पाकिस्तान में सुरक्षा के मामलों में प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को मात देने की तैयारी कर चुका है।

    दरअसल आंतकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के प्रशिक्षित आतंकी अब हाफिज सईद की सुरक्षा में 24 घंटे तैनात रहेंगे। हाफिज सईद की सुरक्षा के लिए लश्कर-ए-तैयबा ने ‘स्पेशल सिक्योरिटी टीम’ ( विशेष सुरक्षा दल) का गठन किया है।

    मीडिया रिपोर्टों की माने तो आंतकी हाफिज सईद की सुरक्षा में लगे एजेंटों को आधुनिक हथियारों और गोला-बारूद से लैस किया गया है। हाफिज सईद को सुरक्षा प्रदान करने के लिए इन्हे खास तौर से लश्कर-ए-तैयबा द्वारा प्रशिक्षित किया गया है जो पाकिस्तान में हमेशा हाफिज की सुरक्षा में लगे रहेंगे। हाफिज पाकिस्तान में किसी की जगह जाएगा तो ये टीम उसके साथ रहेगी।

    पाकिस्तान के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति से हुआ अधिक ताकतवर

    हाफिज सईद को आखिरी बार शुक्रवार को पाकिस्तान के गुजरांवाला में नमाज के बाद सभा को संबोधित करते हुए देखा गया था। उस समय भी हाफिज सईद विशेष सुरक्षा दल के सुरक्षा घेरे में था।

    मीडिया रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि हाफिज सईद के जैसी सुरक्षा तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति तक को उपलब्ध नहीं है। चौंकाने वाली बात ये है कि विशेष सुरक्षा दल के सदस्यों को लश्कर के सात ही पाकिस्तान की सेना ने भी विशेष प्रशिक्षण दिया हुआ है।

    गौरतलब है कि हाफिज सईद ने पाकिस्तान के आम चुनावों में उतरने का फैसला भी लिया है। ऐसे में चुनाव के दौरान हाफिज सईद की सुरक्षा के लिए भी विशेष सुरक्षा दल उसकी रक्षा करेगी।

    फिलहाल तो हाफिज सईद यरूशलम मुद्दे पर अमेरिका व इजरायल के खिलाफ राजनीतिक टिप्पणियां व बयानबाजी कर रहा है। सईद ने ट्रम्प के इस फैसले को यहूदी समर्थक व मुस्लिम-विरोधी करार दिया है। वहीं कश्मीर को लेकर भी अनर्गल बयानबाजी कर रहा है।