Sat. Apr 20th, 2024
    ज़िम्बाब्वे

    ज़िम्बाब्वे के पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे व उनकी पत्नी ग्रेस मुगाबे के ऊपर अब किसी तरह को कोई मुकदमा नहीं चलेगा। अभियोजन पक्ष से उन्हें छुटकारा मिल गया है। ऐसा रॉबर्ट मुगाबे के स्वेच्छा से इस्तीफा देने के बाद किया गया है।

    जिम्बाब्वे के रक्षा बलों के प्रवक्ता कर्नल ओवरसन मुग्विसी ने बताया कि रॉबर्ट मुगाबे के साथ समझौता किया गया है। इसमें उन्हें मुकदमे से मुक्ति व सुरक्षा की गारंटी देना शामिल है।

    इसके अलावा सैन्य अधिकारियों ने रॉबर्ट मुगाबे को पेंशन देने का भी वादा किया है। साथ ही रॉबर्ट मुगाबे व उनके परिवार को देश में ही उचित सुरक्षा मुहैया करवायी जाएगी। ज़िम्बाब्वे में रॉबर्ट मुगाबे व उनके परिवार की देखभाल की जाएगी। इसके अलावा मुगाबे कई संपतियों को अपने पास रख सकता है।

    रॉबर्ट मुगाबे ने दिया था पद से इस्तीफा

    गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही ज़िम्बाब्वे की सेना ने सत्ता पर कब्जा कर लिया था और रॉबर्ट मुगाबे से इस्तीफे की मांग की थी।

    37 साल के लंबे शासन के बाद रॉबर्ट मुगाबे को मजबूरन अपना इस्तीफा देना पड़ा था। अब उनकी जगह अगले राष्ट्रपति एमर्सन मननगागवा होंगे। जो कि पहले पूर्व उपराष्ट्रपति भी रह चुके है। ये शुक्रवार को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे।

    गौरतलब है कि इससे पहले रॉबर्ट मुगाबे देश की सत्ता को अपनी पत्नी ग्रेस मुगाबे को सौंपना चाहते थे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। सेना ने भी एमर्सन मननगागवा का समर्थन किया ।