Wed. Dec 7th, 2022
    राहुल गाँधी

    देश के सबसे पुराने राजनीति दल में आज एक नए युग की शुरुआत होने जा रही है। सोनिया के 19 साल छत्र छाया में कांग्रेस पार्टी अग्रसर रही है लेकिन अब पार्टी की कमान राहुल गाँधी के हाथ में सौंपी गयी है। कांग्रेस पार्टी अब राहुल के राज में आगे बढ़ेगी। राहुल गाँधी को अध्यक्ष पद के लिए सर्टिफिकेट मिल गया है। राहुल अब औपचारिक रूप से अध्यक्ष बन गए है। आज का दिन राहुल गाँधी के लिए बहुत ही विशेष है। उसे और यादगार बनाने के लिए पार्टी के कार्यकर्ताओ ने भरपूर तैयारियां की है। आज कांग्रेस कार्यकर्ताओ के बीच ख़ुशी का माहौल है, चारो तरफ ढोलनगाडे बजते दिख रहे है। पार्टी दफ्तर के बाहर लोगो की भीड़ जुटी हुई है, पार्टी के पदाधिकारी से लेकर कार्यकर्त्ता सबके चेहरे पर अपने अध्यक्ष के प्रति एक चाह दिख रही है। 47 वर्षीय राहुल गाँधी ने 132 साल पुरानी पार्टी के 49वे अध्यक्ष के रूप में जिम्म्मेदारी सँभाली है।

    सोनिया, राहुल और मनमोहन के भाषण के मुख्य बिंदु

    कांग्रेस को ग्रैंड ओल्ड और यंग पार्टी बनाएंगे – राहुल गाँधी
    बीजेपी के लोग पुरे देश में आग और हिंसा फैला रहे है – राहुल
    वो लोग तोड़ते है, हम जोड़ते है. वो आग लगाते है, हम बुझाते है – राहुल
    भाजपा को समझाने की कोशिश कर रहे है कि एक बार आग लगाने पर बुझाना मुश्किल – राहुल
    कुछ नेता व्यक्तिगत छवि के लिए काम करते है – राहुल
    राजनीति लोगो की सेवा के लिए होती है, लेकिन आज लोगो को दबाने के लिए राजनीति हो रही है – राहुल गाँधी

    सोनिया गाँधी

    मुझे राहुल की सहनशीलता पर गर्व है – सोनिया
    राजनीति में आने पर राहुल को व्यक्तिगत हमलो को सामना करना पड़ा, जिसने उसे मजबूत और निडर बनाया – सोनिया
    कांग्रेस को अंतर्मन में झांककर आगे बढ़ना पड़ेगा और खुद को भी दुरुस्त करना पड़ेगा- सोनिया
    देश में भय का माहौल है, हम डरने और झुकने वाले नहीं हैं – सोनिया
    सत्ता, स्वार्थ और शोहरत हमारा मकसद नहीं-सोनिया
    मैं राजनीति को अलग नजरिए से देखना चाहती थी, मैं अपने पति और बच्चों को राजनीति से दूर रखना चाहती थी – सोनिया
    जब इंदिरा की हत्या हुई तो मुझे मां खोने का गम हुआ – सोनिया
    इंदिरा जी ने मुझे बेटी के रूप में अपनाया – सोनिया
    20 साल पहले जब मुझे अध्यक्ष चुना गया, तब मेरे दिल में घबराहट थी, यहां तक कि मेरे हाथ कांप रहे थे – सोनिया
    कांग्रेस के सामने नया दौर और नई उम्मीद – सोनिया

    मनमोहन सिंह

    राहुल गांधी ने लंबे समय तक अनुभव लिया – मनमोहन सिंह

    राहुल की ताजपोशी को मनमोहन सिंह ने बताया कांग्रेस के लिए ऐतिहासिक दिन। वहीं कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता कारण सिंह ने कहा कि मैंने गाँधी परिवार कि पांच पीढ़िया देखी है। उन्होंने वंशवाद को सही ठहराते हुए कहा कि मैं खुद एक परिवार का प्रतिनिधित्व करता हूँ। वंशवाद सभी मायनो में सही है, और राहुल गाँधी में वह सारे गुण है जो कि एक नेता में होने चाहिए।

    कांग्रेस दफ्तर के बाहर पार्टी कारकार्ताओ में ख़ुशी की लहर दिख रही तो पार्टी दफ्तर के अंदर नेताओ का हुजूम लगा हुआ है। राहुल को कांग्रेस का चार्ज मिलने से पहले अलग-अलग तस्वीरें सामने आ रही हैं। दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर लगे एक पोस्टर में ‘आदरणीय, पंडित राहुल गांधी’ लिखा गया है। साथ ही दफ्तर के बाहर आतिशबाजी का सिलसिला भी शुरू हो गया है।

    वही अमेठी में भी राहुल गाँधी का पोस्टर भब्य तरीके से सुशोभित किया गया है। पोस्टर में लिखा गया है, शिव भक्त, भगवान परशुराम के वंशज जनेऊधारी पंडित राहुल गांधी जी’ को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने हार्दिक बधाई।

    अब पार्टी को एक योग्य दिशा में ले जाना ही राहुल गाँधी का मुख्य उदेश्य है। राहुल ने पार्टी को फिर से यंग बनाने का सपना देखा है, जो कि अब उनके नेतृत्व में अग्रसर होगा।