Wed. Nov 30th, 2022
    राम रहीम केस में मनमोहन ने दिया था सीबीआई को फ्री हैंड

    राम रहीम केस में एक और खुलासा हुआ है। खबर के मुताबिक हरियाणा और पंजाब के कुछ सांसदों ने पूर्व प्रधानमंत्री पर केस छोड़ने का दबाव बनाया था। पर प्रधानमंत्री ने सीबीआई को जाँच की पूरी स्वतंत्रता दी थी।

    सीबीआई के रिटायर्ड डीआईजी ने खुलासा किया है कि किस तरह हरियाणा और पंजाब के सांसदों ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर सीबीआई को केस छोड़ने के लिए दबाव बनाया गया था।

    गुरमीत राम रहीम सिंह केस में मुख्य जाँच के अधिकारी रहे डीआईजी एम नारायण ने बताया कि कैसे पीएम मनमोहन सिंह ने उस मामले को देखा था, और सीबीआई को कार्य करने में फ्री हैंड दिया था।

    एक साक्षात्कार में एम नारायण ने कहा कि राजनीतिक दबाव बढ़ने से पूर्व पीएम ने तत्कालीन सीबीआई चीफ विजय शंकर को तलब किया था। उन्होंने इस मामले में सीबीआई चीफ से मुलाकात की थी, नारायण ने बताया कि पीड़ितों के बयान देखने के बाद उन्होने सीबीआई को जाँच आगे बढ़ाने को कहा था।

    एम नारायण ने बताया कि इन 15 सालों में कैसे उनपर हर तरह का दबाव बनाया गया था। सबने दबाव बनाया चाहे वे डिपॉर्टमेंट के सीनियर अफसर हो या अन्य लोग, हर तरह के दबाव के बावजूद उन्होंने केस नहीं छोड़ा। इस केस का फैसला आ चूका है जिसमें कोर्ट ने बाबा को 20 साल की सजा सुनाई है।