Sat. Jan 28th, 2023
    कुमार विश्वास ,राज्यसभा

    आम आदमी पार्टी में राज्यसभा को लेकर हलचल जारी है। राज्यसभा में दिल्ली की ओर से तीन सांसद चुने जाने है। अभी इस कार्य के लिए समय है, लेकिन पार्टी अभी यह निर्णय नहीं कर पा रही है कि किसे भेजे किसी नहीं। उधर पार्टी नेता और कवि कुमार विश्वास के समर्थक उन्हें राज्यसभा भेजने के लिए मांग कर रहे है। लेकिन आम आदमी पार्टी की ओर से इसपर अभी तक किसी भी प्रकार का आधिकारिक बयान नहीं आया है। कुमार विश्वास के नाम पर पार्टी चुप्पी साधे हुए है। समर्थको द्वारा हंगामा करने पर विश्वास ने ट्वीट कर कहा कि उनके लिए राज्यसभा सीट मायने नहीं रखती है, पहले देश फिर पार्टी।

    वही आम आदमी पार्टी के एक सूत्र ने बताया कि यह निश्चित है कि कुमार विश्वास राज्यसभा नहीं जायेंगे। पार्टी के अंदर उनके नाम का जिक्र तक नहीं है जिससे उनके नामांकित होने की खबर हो। सूत्रों की माने तो पार्टी नेता डॉ कुमार विश्वास ने कुछ समय से पार्टी के पक्ष के बजाये पार्टी के विपरीत बाते कही है, जिससे पार्टी उनके इस रवैये से नाराज है। राज्यसभा सदस्य के लिए पार्टी ने कई नेताओ के नाम चयनित किये है। लेकिन पार्टी नाम एलान करने से किनारा कर रही है। राज्यसभा में 5 जनवरी तक नामांकन करने की तारीख है। केजरीवाल की ओर से अभी तक कई अन्य लोगों को भी राज्यसभा सीट का ऑफर दिया था। पार्टी किसी मजबूत चेहरे को राज्यसभा में भेजना चाहती है, लेकिन अभी तक जिसे भी पार्टी की तरफ से अप्रोच किया गया है, उसने मना ही किया है।

    राज्यसभा के लिए आप’ ने किस किस को दिया ऑफर?

    सूत्रों की मानें, तो आम आदमी पार्टी की ओर से अभी तक पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी जैसे बड़े दिग्गजों को राज्यसभा सीट की पेशकश की जा चुकी है। ये तीनों ही मोदी सरकार के धुरविरोधी रहे है। लेकिन फिर भी इन तीनो ने दिल्ली सीएम अरविन्द केजरीवाल के ऑफर को इंकार कर दिया है। इसके अलावा भी पार्टी की ओर से सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज टीएस ठाकुर, इंफोसिस प्रमुख नारायण मूर्ति, नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी और बिजनेज़मैन सुनील मुंजल को अप्रोच किया जा चुका है। लेकिन किसी ने भी हामी नहीं भरी है।

    हालाँकि इन सभी ने अभी तक आम आदमी पार्टी के ऑफर को नकारने का कोई बड़ा कारण नहीं बताया है। लेकिन कहा जा रहा है इनसब को ‘आप’ की नीति अच्छी नहीं लगती है।

    कुमार का टवीट के जरिए तंज

    कुमार विश्वास के समर्थको नें आम आदमी पार्टी के दिल्ली मुख्यालय पर कब्ज़ा कर लिया है और उनके राज्यसभा जाने की मांग कर रहे हैं। इसपर कुमार विश्वास ने टवीट कर कहा कि मैनें आप सब से सदा कहा है, पहले देश, फिर दल, फिर व्यक्ति। पार्टी मुख्यालय पर जमा कार्यकर्ताओं से निवेदन है कि स्वराज, पारदर्शिता के मुद्दों के लिए संघर्ष करें, मेरे हित-अहित के लिए नहीं। स्मरण रखिए अभिमन्यु के वध में भी उसकी विजय है।

    यह भी खबर सामने आ रही है कि केजरीवाल अपना पत्ता नहीं खोलना चाहते है। वह पहले से इस मामले में तीन नाम चयनित कर चुके है। इसमें सबसे पहला नाम प्रवक्ता संजय सिंह का है। लेकिन अभी भी पार्टी ने इस मामले पर कोई फैसला नहीं ले पाई है। कहा जा रहा है कि इस मुद्दे पर पार्टी मीटिंग में फैसला हो सकता है।

    लेकिन वहीँ पार्टी में कुमार विश्वास का नाम राज्यसभा के लिए दूर दूर तक नहीं रहा है। कुमार के किसी स्टैंड पर पार्टी ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं रखी हैं।