यूजीसी का कॉलजों को निर्देश, हर हाल में स्टूडेंट पीएम मोदी की स्पीच सुने

यूजीसी यानि यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन ने कॉलजों और यूनिवर्सिटी के छात्रों से निवेदन किया है कि वे नरेंद्र मोदी की 11 सितम्बर की स्पीच जरूर सुने। इस स्पीच का टाइटल यंग इंडिया, नई इंडिया ए रिसर्जेंट नेशन फ्रॉम संकल्प तो सिद्धि है।

यहीं नहीं, संस्थानों से कहा गया है कि अध्यापक और विद्यार्थियों के लिए इंतज़ाम करे ताकि लोग स्पीच सुन सके। इसके लिए संस्थान में एक वेन्यू, ऑडियो-विसुअल रूम और ऑडिटोरियम तैयार करने के निर्देश दिए है। साथ साथ निर्देश दिया है, कि टीवी और प्रोजेक्शन कि सुविधा ऐसी दी जाए, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग एक साथ देख सके। साथ में संस्थानों से कहा है कि नोटिस बोर्ड पर नोटिस लगाया जाए, जिससे ज्यादा लोगो तक बात पहुँच सके।

मीडिया रिपोर्टर्स के मुताबिक, प्रधानमंत्री जो बात कहेंगे उसमे पीएम स्वामी विवेकानंद के बारे में बात करेंगे, साथ ही उनकी सिक्षाओ के बारे में बात करेंगे। इससे विद्यार्थियों को एजुकेशनल, करियर और आध्यात्मिक ग्रोथ मिलेगी।