Tue. Dec 6th, 2022
    भारत प्रधानमंत्री चीन

    भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ख्याति पूरी दुनिया में वैश्विक लीडर के तौर पर बनी हुई है। अब तो भारत का प्रतिद्वंदवी देश चीन भी पीएम मोदी की क्षमता का मुरीद बन चुका है। चीन के प्रमुख सरकारी थिंक टैंक ने मोदी सरकार की विदेश नीति की तारीफ की है।

    चीनी विदेश मंत्रालय से संबद्ध एक थिंक टैंक, चीन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज के उपाध्यक्ष रोंग यिंग ने कहा कि पिछले तीन सालों से भारत की कूटनीति जीवंत और जोरदार रही है।

    भारत के लिए पीएम मोदी की योजनाएं व विदेश नीति के सिद्धांत नए उदय की तरह है। रोंग यिंग भारत के साथ राजनियक के तौर पर काम भी कर चुके है।

    चीनी विशेषज्ञ रोंग ने कहा कि मोदी सरकार की विदेश नीति काफी मजबूत व आक्रामक है। इन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने डोकलाम जैसे गंभीर विवाद को न केवल सही तरीके से संभाला अपितु दोनों देशों के बीच संबंधों को भी खतरे में नहीं डाला।

    भारत और चीन को एक दूसरे के विकास के लिए परस्पर समर्थन की रणनीतिक सहमति पर चलना चाहिए। रोंग ने कहा कि भारत के विकास के रास्ते मे चीन बाधा नहीं है, बल्कि भारत के लिए एक अच्छा अवसर उपलब्ध कराने वाला देश है।

    दक्षिण एशियाई देशों के साथ मजबूत संबंध बना रहा भारत

    चीन, भारत के विकासशील उदय को नहीं रोक सकता है। भारत एक महत्वपूर्ण पड़ोसी और एक बड़ा उभर रहा देश है, जो अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के सुधार को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भागीदार है।

    दक्षिण एशिया देशों व संबंधों पर बोलते हुए रोंग ने बताया कि पीएम मोदी ने हमेशा से इन पड़ोसी देशों के साथ संबंधों को मजबूत करने के लिए इनके नेताओं को आमंत्रित किया है। यहां तक की भूटान जैसे छोटे पड़ोसी देश की यात्रा पर भी पीएम मोदी गए है।

    दक्षिण एशिया कूटनीति में ‘मोदी सिद्धांत’ की काफी प्रशंसा की है। आगे कहा कि मोदी की मजबूत व निर्णायक व्यवहार की वजह से भारत की कूटनीतिक जोखिम लेने की क्षमता बढ़ रही है।