Sat. Nov 26th, 2022
    मुंबई आतंकी हमला

    भारत में नंवबर 2008 में हुए मुंबई हमले के बाद पाकिस्तान अपनी भूमिका शामिल होने से कई बार इंकार कर चुका है। जबकि मुंबई हमले के सभी सबूत भारत ने पाकिस्तान को दे रखे है। हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व विदेश सचिव रियाज मोहम्मद खान ने माना है कि मुंबई हमले में पाकिस्तान का हाथ होने से पाकिस्तान की छवि धूमिल हुई थी।

    रियाज के मुताबिक मुंबई आतंकी हमले की वजह से दुनिया भर में पाकिस्तान की इमेज खराब हुई। इसके साथ ही रियाज ने कश्मीर मुद्दे को हवा देते हुए कहा कि इस हमले का असर कश्मीर पर भी हुआ। कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की तरफ से की जा रही कार्रवाई पर भी नकारात्मक असर पड़ा है।

    मुंबई हमले में था पाकिस्तान का हाथ

    गौरतलब है कि मुंबई में हुए आतंकी हमले में करीब 166 निर्दोष नागरिक मारे गए थे। करीब 10 आतंकियों ने मुंबई के ताज होटल सहित कई बड़ी जगहों पर हमले किए थे। जिसके बाद सुरक्षा एंजेंसियों ने एक आतंकी अजमल कसाब को गिरफ्तार किया था। बाद में कसाब को फांसी दे दी गई थी। इस हमले में कई विदेशी नागरिक भी मारे गए थे।

    दरअसल रियाज मोहम्मद ने वाशिंगटन स्थित पाक दूतावास में कश्मीर दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ये बात कही। रियाज का कहना है कि इस वजह से दुनिया भर मे पाकिस्तान की छवि को तो नुकसान पहुंचा ही, साथ ही में कश्मीर मुद्दे पर भी पाकिस्तान को नुकसान उठाना पड़ा।

    इसी अवसर पर अन्य पूर्व पाक राजनियक तौकीर हुसैन ने कहा कि कश्मीर वहां कि भू-राजनीति का शिकार हो गया है। कश्मीर मसले पर पाकिस्तान को सपोर्ट की जरूरत है।

    इसके अलावा हुसैन ने अमेरिका पर निशाना साधते हुए कहा कि अमेरिका का पाकिस्तान के प्रति गलत रवैया है। साथ ही कहा कि अमेरिका हमेशा से भारत का सपोर्ट करता है। भारत में फायदा दिखने से अमेरिका बेवजह पाकिस्तान पर दबाव बना रहा है।