Thu. Apr 18th, 2024
    milind deora sanjay nirupam

    कॉंग्रेस के बड़े नेता मिलिंद देओरा ने यह स्वीकार किया है कि मुंबई में पार्टी के भीतर कुछ अनबन चल रही हैमिलिंद देओरा। हालाँकि मिलिंद ने पार्टी के मुंबई मुख्यालय से सभी को एकजुट होने के लिए कहा है।

    देओरा ने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए यह बताया है कि वो पार्टी के आंतरिक मसलों को ऐसे खुले आम सबके सामने नहीं लाना चाहते हैं, लेकिन पार्टी के लिए जरूरी है कि अब सभी एकजुट होकर काम करें।

    मिलिंद ने यह भी कहा है कि ‘मुंबई जैसे शहर में जो कि देश आर्थिक और सांस्कृतिक राजधानी भी है, जरूरी है कि हम लोगों को एक साथ लेकर आयें।’

    इसी के साथ ही मिलिंद ने यह भी कहा कि मुंबई कॉंग्रेस को सांप्रदायिक राजनीति के लिए क्रिकेट पिच की तरह इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है, जिसमें नेताओं को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा किया जाएगा।

    मिलिंद ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए भी कहा कि ‘उन्हे दुख है कि यहाँ क्या हो रहा है, हालाँकि पार्टी को 2019 लोकसभा चुनावों को लेकर मेरी स्थिति मालूम है।’

    मिलिंद ने यह भी कहा कि उन्हे केंद्रीय नेतृत्व पर पूरा भरोसा है। पढ़ें मिलिंद का यह ट्वीट-

    मिलिंद ने मुंबई कॉंग्रेस के मुखिया संजय निरूपम ने आग्रह करते हुए यह कहा है कि वे वैचारिक मतभेद को भुलाकर साथ आयें और एक संगठन की तरह काम करें।

    आगे की रणनीति पर बात करते हुए मिलिंद ने कहा है कि ‘हमारा एक ही लक्ष्य है और वो है मोदी को सत्ता से हटाना। राहुल गांधी देश भर में दौरा कर सबको एकजुट कर रहे हैं। इसी तरह मुझे भी लगता है कि मुंबई में भी हमें एकजुट होकर काम करना चाहिए।’

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *