दा इंडियन वायर » समाचार » भारत ने चीन को पानी में घेरा, शुरू किया मिशन ‘संबंध’
समाचार

भारत ने चीन को पानी में घेरा, शुरू किया मिशन ‘संबंध’

भारतीय सेना हिन्द महासागर
भारतीय नौसेना ने हिन्द महासागर और आसपास के इलाकों में चीन को घेरना शुरू कर दिया है। इसी के साथ भारतीय कूटनीति के जरिये कई देशों ने आगे आकर चीन के खिलाफ भारत का साथ देने का एलान किया है।

भारत और चीन के बीच डोकलाम में जारी सीमा विवाद पर भारत ने अपनी कमर कसनी शुरू कर दी है। भारतीय नौसेना ने हिन्द महासागर और आसपास के इलाकों में चीन को घेरना शुरू कर दिया है।

खबर के मुताबिक भारत बहुत जल्द दक्षिणी एशिया के करीबन 10 देशों के साथ मिलकर एक समुद्री युद्धाभ्यास शुरू करेगा। इस मिशन का नाम मिशन ‘संबंध’ होगा, और इसका नेतृत्व भारत करेगा। इस युद्धाभ्यास में बांग्लादेश, वियतनाम, थाईलैंड, मलेशिया, ओमान, केन्या और तंजानिया जैसे कई छोटे देश हिस्सा लेंगे।

और पढ़ें : भारत ने चीनी सीमा पर लदाख में बनायीं रोड. चीन भड़का

इस युद्धाभ्यास के पीछे भारत का मक़सद हिन्द महासागर में अपनी पकड़ मजबूत करना है। विशेषज्ञों का मानना है कि इस युद्धाभ्यास के जरिये भारतीय नौसेना को युद्ध का प्रशिक्षण भी मिल जाएगा। इस मिशन के साथ ही दक्षिण एशिया के सभी छोटे देश भारत के साथ हो जाएंगे। इस मिशन के जरिये सभी देश भारत के जंगी जहाजों जैसे विक्रमादित्य और अरिहंत पर ट्रेनिंग कर सकेंगे।

जाहिर है यह मिशन ऐसे समय पर हो रहा है जब सीमा पर भारत और चीन के बीच सीमा विवाद बढ़ा हुआ है। एक और चीन लगातार युद्ध की धमकियाँ दे रहा है, वहीँ भारत इस मुद्दे को शांति से सुलझाने के पक्ष में है। चीन के रवैये को देखते हुए भारत ने भी युद्ध से समबन्धित सभी तैयारियां करनी शुरू कर दी हैं। भारत ने चीनी सीमा पर सड़कें बना ली हैं। इससे लदाख से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक भारतीय सेना को पहुँचने में बहुत आसानी होगी।

पानी में चीन को चुनौती देने के लिए भारतीय नौसेना ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके साथ ही हाल ही में भारत ने अमेरिका से अपाची हेलीकाप्टर भी खरीदें हैं, जिन्हे लड़ाकू हेलीकाप्टर की सूचि में सबसे आधुनिक माना जाता है। अपाची हेलीकाप्टर भारतीय थल सेना अवं वायु सेना दोनों को मिलेंगे। इन सब बातों से जाहिर है कि भारत ने थल, पानी और वायु तीनों प्रकरणों में अपने आप को मजबूत कर लिया है।

इसी के साथ भारतीय कूटनीति के जरिये कई देशों ने आगे आकर चीन के खिलाफ भारत का साथ देने का एलान किया है। जापान ने सबसे पहले आगे आकर चीन को शांति पूर्ण ढंग से इसका हल निकालने को कहा था। अभी नेपाल के प्रधानमंत्री भी भारतीय दौरे पर हैं और दोनों देशों ने कई मुद्दों पर साथ काम करने का फैसला किया है।

और पढ़ें : चीन ने भारतीय धार्मिक एकता पर किया हमला




फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!