Thu. Jun 20th, 2024
    भारत चीन अरुणाचल सीमा

    भारत और चीन के बीच बढ़ते सीमा विवाद पर आज भारतीय सेना और चीनी सेना के अधिकारीयों के बीच लदाख में मुलाकात हुई। इस मुलाकात में दोनों पक्षों ने सीमा पार करने की बात मानी और भविष्य में तनाव कम करने का भरोसा जताया है। इससे पहले भारतीय सेना और चीनी सेना लदाख में एक दूसरे से भीड़ गयी थी जिसके बाद भारतीय सेना ने उन्हें वापस खदेड़ दिया था। विशेषज्ञों के मुताबिक चीन का यह कदम डोकलाम में उसकी हार के बाद उठाया गया है।

    जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह चीन ने पनोंग छील के जरिये भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की। इसक बाद भारतीय सेना ने इसका विरोध किया और चीनी सेना को रोक दिया। अपनी चाल को सफल ना होता देख चीन ने पथराव करना शुरू कर दिया। इसका भारतीय सेना ने भी जवाब दिया। इस दौरान दोनों और से काफी सैनिक घायल हो गए। आज चीनी सैनिकों ने सीमा पर मुलाकात करने का फैसला किया और भारत की और से सीमा बल के कुछ अधिकारी इस बैठक का हिस्सा बनने पहुंचे। बैठक के दौरा चीन ने घुसपैठ करने की बात को माना। इसके बाद दोनों और से शांति का माहौल बनाने का फैसला किया गया। बैठक के दौरान यह भी फैसला हुआ कि बॉर्डर पर दूसरी और चल रही गरमा गर्मी को कहीं और नहीं लाना चाहिए।

    भारतीय सेना लगातार लदाख में पैठ बनाये हुए है। चीन की नई चाल के अनुसार लदाख में चीनी सेना घुसपैठ करने की कोशिश कर रही है। ऐसा लगता है कि डोकलाम में हार के बाद चीन किसी भी तरह भारत पर दबाव बनाना चाहता है। लेकिन चीन अपनी इस रणनीति में सफल होता नहीं दिख रहा है।

    सम्बंधित: भारत चीन सम्बन्ध

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।